रोहित शर्मा ने बताया, खेल शुरू होने के बाद मैदान पर कैसी होंगी चुनौतियां

भारत में ‘लॉकडाउन 3.0’ (Lockdown 3.0) शुरू हो गया है। इसका अर्थ है कि खिलाड़ियों को मैदान पर उतरने के लिए अभी और लंबा इंतजार करना होगा। इतना ही नहीं, वे प्रैक्टिस के लिए भी नहीं उतर पाएंगे।
पहलवान और बॉक्सर्स अपने हिस्से का फिजिकल वर्कआउट कर रहे हैं लेकिन क्रिकेटर्स के लिए चुनौती थोड़ी परेशान करने वाली है। इनकी चुनौती खेल के लिए खुद को मांझने और तैयार रखने के लिए शारीरिक पहलू से आगे जाती है।
भारतीय क्रिकेटर्स भी अपने घरों में ही हैं। खिलाड़ी काफी समय से घर से बाहर नहीं निकले और अब वे किसी तरह बस ट्रेनिंग करना चाहते हैं। बल्लेबाज हों या गेंदबाज वे मैच के लिए तैयार होने के लिए अपने हुनर को एक बार फिर धार देना चाहते हैं।
भारतीय क्रिकेट टीम के सीमित ओवरों के उपकप्तान रोहित शर्मा ने सोशल मीडिया पर तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी के साथ बातचीत में बताया कि जब खेल की शुरुआत होगी तो बल्लेबाजों को किस तरह की परेशानी होगी।
रोहित ने कहा, ‘बल्लेबाजों को गेंद बल्ले के बीच से खेलने में एक से डेढ़ महीने का समय लग जाएगा। हैंड-आई कॉर्डिनेशन काफी जरूरी है। उसमें तारतम्य बैठाने में काफी वक्त लगेगा क्योंकि आप ऐसे गेंदबाजों का सामना कर रहे होंगे जो 140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बॉलिंग करेंगे।’
इस धमाकेदार बल्लेबाज को लगता है कि बल्लेबाजों को खुद को ढालने के लिए ज्यादा वक्त की जरूरत होगी।
रोहित ने कहा, ‘हाईऐस्ट लेवल पर किसी भी तरह के मैच से पहले हमें कम से कम एक महीने तक कड़ी प्रैक्टिस करनी होगी ताकि हम अपनी लय हासिल कर पाएं। हमें अपना बल्ला थामे हुए तीन महीने गुजर चुके हैं। अभी इसमें और वक्त लगेगा। ऐसा नहीं लगता कि लॉकडाउन जल्दी ही खुल रहा है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *