खराब फॉर्म के बावजूद टी-20 विश्व कप का हिस्‍सा होंगे ऋषभ पंत

भारत के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने साफ किया कि अपनी खराब फॉर्म के कारण आलोचकों के निशाने पर चल रहे विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत इस साल के आखिर में आस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप की तैयारियों का ‘बड़ा’ और ‘अभिन्न’ हिस्सा हैं।
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की टी-20 श्रृंखला में टीम का नेतृत्व करने वाले पंत पांच पारियों में केवल 58 रन ही बना पाए, जिससे सबसे छोटे प्रारूप में उनकी जगह को लेकर सवाल उठने लगे। द्रविड़ ने हालांकि स्पष्ट किया कि पंत टीम में बने रहेंगे।
पंत हमारी योजनाओं का बड़ा हिस्सा है
द्रविड़ ने पांचवें मैच के बारिश की भेंट चढ़ जाने के कारण श्रृंखला 2-2 से बराबर छ्रटने के बाद संवाद्दाता सम्मेलन में कहा, ‘निजी तौर पर वह कुछ और रन बनाना पसंद करता लेकिन यह उससे संबंधित नहीं है। निश्चित रूप से वह अगले कुछ महीनों में हमारी योजनाओं का बहुत बड़ा हिस्सा है। मैं आलोचनात्मक रवैया नहीं अपनाना चाहता। बीच के ओवरों में थोड़ा आक्रामक क्रिकेट खेलने की जरूरत पड़ती है। कभी-कभी दो या तीन मैचों के आधार पर आकलन करना मुश्किल होता है।’
पंत की स्ट्राइक रेट से प्रभावित थे द्रविड़
असल में द्रविड़ आईपीएल के दौरान पंत की 158 से अधिक की स्ट्राइक रेट से प्रभावित थे, जिसमें इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से 340 रन बनाए थे जो कि अपेक्षानुसार नहीं थे। द्रविड़ ने कहा, ‘मुझे लगता है कि स्ट्राइक रेट के मामले में आईपीएल में उनका प्रदर्शन बहुत अच्छा था, भले ही औसत के मामले में यह अच्छा नहीं लग रहा था। आईपीएल में वह (औसत के मामले में) बेहतर करना चाहते थे और शायद तीन साल पहले उन्होंने खूब रन बनाकर अच्छा औसत हासिल किया था।’
पंत की कप्तानी पर बोलना जल्दबाजी होगी
उन्होंने कहा, ‘हम उम्मीद कर रहे हैं कि वह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर यह आंकड़ा हासिल करने में सफल रहेंगे।’ पंत की कप्तानी के बारे में द्रविड़ को लगता है कि श्रृंखला के पहले दो मैच गंवाने के बाद टीम को वापसी दिलाकर उन्होंने अच्छी भूमिका निभाई। द्रविड़ ने कहा, ‘टीम को 0-2 से वापसी दिलाना, श्रृंखला 2-2 से बराबर करना और जीत के अवसर पैदा करना अच्छा प्रदर्शन था। कप्तानी केवल जीत और हार से नहीं जुड़ी है। वह एक युवा कप्तान है और सीख रहा है। अभी उनका आकलन करना करना जल्दबाजी होगी और एक श्रृंखला के बाद ऐसा नहीं किया जा सकता है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *