खुलासा: CPEC में भ्रष्‍टाचार के कारण जिनपिंग ने टाला था पाक दौरा

पेइचिंग। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के पाकिस्तान दौरे को रद्द करने पर बड़ा खुलासा हुआ है। जिनपिंग इस साल के अंत में पाकिस्तान जाने वाले थे। इस यात्रा के दौरान दोनों देशों में सैन्य और व्यापार क्षेत्र में कई बड़े समझौते होने की संभावना जताई जा रही थी। अपनी यात्रा के दौरान जिनपिंग इस्लामाबाद में पाकिस्तान चीन की सालाना उच्च स्तरीय रणनीतिक परिषद की बैठक में भी हिस्सा लेने वाले थे।
तब कोरोना वायरस का दिया था हवाला
इस महीने के शुरुआत में ही चीन ने कोरोना वायरस का बहाना बनाते हुए इस दौरे को रद्द करने का ऐलान किया था। पाकिस्‍तान में चीन के राजदूत याओ जिंग ने कहा था कि कोरोना वायरस संकट को देखते हुए यह दौरा रद्द किया गया है। राष्ट्रपति जिनपिंग के दौरे के लिए जल्‍द ही नई तिथियों का ऐलान किया जाएगा। चीन का यह कारण इसलिए गले नहीं उतर रहा है क्योंकि पाकिस्तान ने तो दावा किया है कि उसने कोरोना वायरस पर जीत पा ली है। ऐसे में भला चीनी राष्ट्रपति को कोरोना का डर क्यों सता रहा है।
तो इस कारण रद्द किया था जिनपिंग ने पाक दौरा
दरअसल, जिनपिंग ने पाकिस्तान दौरा इसलिए रद्द किया था क्योंकि वह चीन पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर में हुए भ्रष्टाचार के मामले से बच सकें। कुछ दिनों पहले ही पाकिस्तान की एक खोजी वेबसाइट फैक्‍ट फोकस ने रिपोर्ट जारी करते हुए बताया था कि 60 अरब डॉलर के CPEC प्रोजक्ट के चेयरमैन पाक सेना के पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल असीम सलीम बाजवा ने भ्रष्टाचार से 40 मिलियन डॉलर से ज्यादा की संपत्ति बना ली है।
बाजवा ने बढ़ाई जिनपिंग की चिंता
बाजवा इस समय पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के सूचना और प्रसारण विभाग के विशेष सहायक भी हैं। भ्रष्टाचार का खुलासा होने के बाद उन्होंने पीएम इमरान खान को अपना इस्तीफा भी सौंपा था लेकिन इमरान खान ने सेना के भड़कने के डर से उसे स्वीकार करने से मना कर दिया था। अब भ्रष्टाचार के बावजूद लेफ्टिनेंट जनरल बाजवा CPEC के चेयरमैन और पीएम इमरान के विशेष सहायक बने रहेंगे।
विवादों में नहीं फंसना चाहते थे जिनपिंग
विशेषज्ञों ने दावा किया है कि शी जिनपिंग इस समय किसी अन्य विवाद का सामना नहीं करना चाहते थे। जिनपिंग पहले से ही वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस और अपनी सेना की करतूतों के कारण वैश्विक निंदा झेल रहे हैं। पिछले महीने ही पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी जिनपिंग के दौरे की तैयारियों के सिलसिले में पेइचिंग पहुंचे थे। उनके दौरे के तुरंत बाद शी जिनपिंग की पाकिस्तान यात्रा स्थगित करना वास्तव में आश्चर्य की बात है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *