KD हॉस्पिटल में ठीक हुए 3 कोरोना मरीज

मथुरा। हम अपनी जिन्दगी से नाउम्मीद हो चुके थे। घर-परिवार भी परेशान था लेकिन KD मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेण्टर के डाॅक्टर्स, चिकित्सा से जुड़ी नर्सेज और अन्य कर्मचारी हमारा हर पल हौसला बढ़ाते रहे कि हिम्मत रखो, आप लोग कोरोना से जंग जरूर जीतोगे। हम आज पूर्ण स्वस्थ होकर यदि अपने घर लौट रहे हैं तो इसके पीछे KD हॉस्पिटल के भगवान तुल्य चिकित्सक और यहां की शानदार व्यवस्थाएं ही प्रमुख वजह हैं। सोमवार शाम कुछ ऐसे ही उद्गार मथुरा निवासी तीन मरीजों ने KD हॉस्पिटल से अपने-अपने घर लौटने के समय व्यक्त किए। इन लोगों ने अपनी नई जिन्दगी के लिए RK एजुकेशन हब के अध्यक्ष डाॅ. रामकिशोर अग्रवाल, उपाध्यक्ष पंकज अग्रवाल और चेयरमैन मनोज अग्रवाल का भी आभार माना है।

 

कोरोना संक्रमण से आज पूरी दुनिया परेशान है। समझ में ही नहीं आ रहा कि इस महामारी का कैसे और किस तरह अंत किया जाए। प्रलय के इस दौर में चिकित्सा क्षेत्र से जुड़ा हर शख्स अपनी जान-जोखिम में डालकर लोगों के जीवन को बचाने के प्रयास कर रहा है। ऐसे ही प्रयास के. डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर मथुरा के डॉक्टर्स, चिकित्सा से जुड़ी नर्सेज और अन्य कर्मचारी भी दिन-रात कर रहे हैं। के. डी. हॉस्पिटल के चिकित्सकों ने ऐसे लोगों को बचाने में सफलता हासिल की है जिनका बचना मुश्किल नजर आ रहा था। इनमें से 70 वर्षीय एक मरीज सिर्फ कोरोना संक्रमण से ही नहीं बल्कि दिल की गम्भीर बीमारी से भी जूझ रहा थे। इस मरीज के जीवन को लेकर घर-परिवार के लोग भी नाउम्मीद हो चुके थे लेकिन के. डी. हाॅस्पिटल के डाॅक्टर्स, चिकित्सा से जुड़ी नर्सेज और अन्य कर्मचारियों ने सेवाभाव की मिसाल कायम करते हुए इन्हें नई जिन्दगी दी है।

 

कुछ ऐसा ही हाल दूसरे मरीज का भी था। वह कई जगह से निराश होकर के.डी. हॉस्पिटल आया और अब स्वस्थ होकर अपने घर लौट रहा है। मथुरा निवासी तीसरे युवा मरीज ने भी के. डी. हास्पिटल के चिकित्सकों के सेवाभाव और यहां की व्यवस्थाओं की तारीफ की। के.डी. हास्पिटल में भर्ती लोगों को कोरोना महामारी से बचाने के लिए जान-जोखिम में डालकर सेवाभाव की मिसाल कायम करने वालों में चीफ एडमिनिस्ट्रेटर कोविड डाॅ. गौरव सिंह, कोविड वार्ड के चेयरमैन डा. सौरभ सिंघल, को-चेयरमैन डा. शुभम द्विवेदी, पीएसएम हेड डा. गगनदीप कौर, नोडल आफीसर डाॅ. बी.पी. मिश्रा, डाॅ. प्रदीप कुमार पाढ़ी, एम. एस. डाॅ. राजेन्द्र कुमार, नर्सेज तथा अन्य कर्मचारियों का अहम योगदान है।

आर. के. एजुकेशन हब के अध्यक्ष डाॅ. रामकिशोर अग्रवाल, चेयरमैन मनोज अग्रवाल तथा कालेज के डीन डाॅ. रामकुमार अशोका ने कोराना की इस लड़ाई में तन-मन से चिकित्सा सेवा करने वाले डाक्टरों, नर्सेज तथा अन्य कर्मचारियों की हौसलाअफजाई करते हुए कहा कि वे वाकई सम्मान के पात्र हैं। डाॅ. अग्रवाल ने सभी से स्वयं की सुरक्षा के साथ कोरोना पीड़ितों की देखभाल करने का आग्रह किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *