नियमित अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर पाबंदी 30 नवंबर तक के लिए बढ़ाई गई

नई दिल्‍ली। देश में नियमित अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर पाबंदी फिलहाल 30 नवंबर तक आगे बढ़ा दी गई है। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने बुधवार को कोरोना वायरस महामारी के चलते नियमित अंतर्राष्ट्रीय यात्री विमानों के निलंबन को 30 नवंबर तक आगे बढ़ा दिया गया है। हालांकि इस दौरान अंतर्राष्ट्रीय कार्गो विमान और विशेष विमानों समेत वंदे भारत मिशन के तहत चलने वाले विमानों का संचालन जारी रहेगा। भारतीय विमानन नियामक ने एक परिपत्र में कहा कि कुछ अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को चुनिंदा मार्गों पर अनुमति दी जा सकती है।
गौरतलब है कि कोरोना वायरस महामारी के कारण 23 मार्च से भारत में नियमित अंतर्राष्ट्रीय यात्री विमान सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है। लेकिन मई महीने से ही विशेष अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें जैसे वंदे भारत मिशन के तहत और जुलाई महीने से चुनिंदा देशों के साथ द्विपक्षीय ‘एयर बबल’ व्यवस्था के तहत कुछ विमान संचालित किए जा रहे हैं।
भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन, यूएई, केन्या, भूटान और फ्रांस सहित लगभग 18 देशों के साथ ‘एयर बबल’ समझौते किए हैं। इसके तहत दो देशों के बीच एक एयर बबल पैक्ट के तहत विशेष अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को उनके क्षेत्र के बीच उनकी एयरलाइंस द्वारा संचालित किया जा सकता है।
नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) के परिपत्र में यह भी उल्लेख किया गया है कि यह निलंबन अंतर्राष्ट्रीय ऑल-कार्गो संचालन और विशेष विमानों के संचालन को प्रभावित नहीं करता है। गौरतलब है कि कोरोना महामारी की स्थिति के बीच भारत में कोरोना लॉकडाउन के दो महीने के बाद 25 मई को नियमित घरेलू यात्री उड़ानें फिर से शुरू हुईं थी।
गौरतलब है कि कोरोना को देखते हुए गृह मंत्रालय की ओर से अनलॉक-5 की गाइडलाइंस जारी की गई है। गृह मंत्रालय ने कोरोना गाइडलाइंस के मद्देनजर 30 सितंबर को जो आदेश लागू किया था, उसे अब 30 नवंबर 2020 तक प्रभावी रखा है। इसके तहत 30 नवंबर तक कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया जाएगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *