रिपोर्ट: चीन के 20 प्रतिशत सैनिक युद्ध लड़ने लायक नहीं, बुरी आदतों के शिकार

पेइचिंग। लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनाव अपने चरम पर है। दोनों ही देशों के हजारों सैनिक आमने-सामने हैं। इस बीच चीन के सरकारी मीडिया ने दावा किया है कि पीएलए ने भारत से लगी सीमा पर ड्रोन से लेकर अत्‍याधुनिक तोपें तैनात की हैं।
उधर, चीनी सेना की एक रिपोर्ट चीनी मीडिया के दावे की पोल खोलकर रख देती है। चीन की पीपुल्‍स ल‍िबरेशन आर्मी ने स्‍वीकार किया है कि उसके 20 प्रतिशत सैनिक जंग के लिए अनफिट हैं और मास्‍टरबेट करते हैं।
वर्ष 2017 में आई चीनी सेना की रिपोर्ट में कहा गया था कि 20 प्रतिशत चीनी सैनिकों का वजन जरूरत से ज्‍यादा है और वे युद्ध के लिए अनफिट हैं। चीन की सेना ने अपने सैनिकों की आदत में सुधार के लिए कई निर्देश दिए थे। पीएलए ने अपने सैनिकों से ज्‍यादा वीडियो गेम नहीं खेलने, स्‍मार्टफोन का इस्‍तेमाल कम से कम करने और मास्‍टरबेट कम करने के लिए कहा था।
पीएलए ने अपने सैनिकों की बुरी आदतों को देख मजबूरन अपने मुखपत्र पीपल्‍स लिबरेशन डेली में इन सिद्धांतों को प्रकाशित किया था। हालत यहां तक थी कि एक शहर में 57 प्रतिशत सैनिक टेस्‍ट में फेल हो गए थे। चीनी सेना ने कहा कि 8 प्रतिशत सैनिकों के स्क्रोटम में एक वेन काफी लंबी है। उसने दावा किया कि यह ज्‍यादा बैठने की वजह से होता है। पीएलए ने कहा कि यह लंबे समय तक कंप्‍यूटर गेम खेलने, बहुत ज्‍यादा मास्‍टरबेट करने और अभ्‍यास कम करने की वजह से भी हुआ है।
PLA के 25 प्रतिशत सैनिक व‍िजन टेस्‍ट में फेल हुए
चीनी सेना के टेस्‍ट में 25 प्रतिशत सैनिकों के अनफिट होने के पीछे अत्‍यधिक शराब पीना भी शामिल है। इसके अलावा कई सैनिक खराब डाइट की वजह से भी अनफिट साबित हुए। चीनी सेना ने कहा कि 46 प्रतिशत सैनिक व‍िजन टेस्‍ट में फेल हुए। ये लोग अपने फोन पर चिपके रहते हैं। बहुत ज्‍यादा स्‍क्रीन देखने से उनकी नजर कमजोर पड़ गई। पीएलए ने कहा कि सैनिक बहुत ज्‍यादा जंक फूड खाते हैं और इसकी वजह से टेस्‍ट में फेल हुए। गंदा पानी पीने की वजह से उन्‍हें साइनस की भी दिक्‍कत है।
लद्दाख की गलवान घाटी और पैंगोंग शो झील के आसपास कारगिल की तरह बेहद चालाकी से हजारों की तादाद में सैनिक तैनात करने वाले चीनी ड्रैगन ने अब भारत को सीधी धमकी दी है। चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स ने कहा है कि लद्दाख डोकलाम नहीं है और हमारी सेना ने भारत से पहाड़ों में जंग लड़ने के लिए पूरी तैयारी कर रखी है। चीन ने कहा कि डोकलाम की घटना के बाद उसने अपने जखीरे में टैंक से लेकर अत्‍याधुनिक ड्रोन शामिल किया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *