विराट कोहली और मीराबाई चानू को संयुक्त रूप से खेल रत्न पुरस्कार की सिफारिश

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और भारोत्तोलक मीराबाई चानू को सोमवार को संयुक्त रूप से देश के सबसे बड़े खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार देने की सिफारिश की गई है। अगर खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ चयन समिति की सिफारिश को मान लेते हैं, तो वह इस खिताब को पाने वाले देश के तीसरे क्रिकेटर होंगे। इससे पहले यह खिताब महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर (1997) और दो बार वर्ल्ड कप जीतने वाले पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी (2007) को मिला है।
इस पुरस्कार की चयन समिति से जुडे़ एक सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर बताया, ‘हां, चयन समिति ने विराट कोहली और मीराबाई चानू के नामों की सिफारिश की है।’ यह भी पता चला है कि भारत के शीर्ष पुरुष बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत भी इस खिताब की दौड़ में थे। उन्होंने पिछले साल सुपर सीरिज सर्किट में शानदार प्रदर्शन किया लेकिन वह 24 साल की मौजूदा भारोत्तोलन वर्ल्ड चैम्पियन मीराबाई से पिछड़ गए। पिछले साल वर्ल्ड चैम्पियनशिप में 48 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीतने के कारण इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए मीराबाई के नाम की सिफारिश की गई है।
उन्होंने इस साल राष्ट्रमंडल खेलों में भी पीला तमगा हासिल किया था, लेकिन चोट के कारण एशियाई खेलों में भाग नहीं ले सकीं। कोहली फिलहाल आईसीसी टेस्ट और वनडे रैंकिंग में शीर्ष बल्लेबाज हैं और पिछले तीन साल से शानदार फॉर्म में चल रहे हैं। 29 साल के कोहली के नाम की 2016 और 2017 में भी सिफारिश की गई थी लेकिन उस समय चयन समिति में उनके नाम पर सहमति नहीं बनी थी। कोहली के नाम 71 टेस्ट मैचों में 23 शतकों के साथ 6147 रन हैं जबकि 211 एकदिवसीय में उन्होंने 9779 रन बनाए हैं, जिसमें 35 शतक शामिल हैं।
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में शतकों के मामले में कुल 58 शतकों के साथ वह भारतीय बल्लेबाजों की सूची में सिर्फ तेंडुलकर (100) से पीछे हैं। बीसीसीआई ने 2016 और 2017 में भी उनके नाम की सिफारिश की थी लेकिन 2016 में साक्षी मलिक, पीवी सिंधु और दीपा करमाकर के रियो ओलिंपिक में शानदार प्रदर्शन के कारण वह इस खिताब के लिए नहीं चुने गए। पिछले साल पूर्व हॉकी खिलाड़ी सरदार सिंह और पैरा ऐथलीट देवेन्द्र झझारिया को यह पुरस्कार दिया गया था।
कोहली उन चुनिंदा खिलाड़ियों में शामिल हैं, जिन्होंने खेल रत्न पुरस्कार से पहले पद्म श्री पुरस्कार (2017) हासिल किया है। इस साल कोहली को मजबूत दावेदार माना जा रहा क्योंकि टीम ने उनके नेतृत्व में घरेलू सीरीज में इंग्लैंड तथा ऑस्ट्रेलिया को शिकस्त दी और वेस्ट इंडीज तथा श्री लंका को उनकी सरजमीं पर हराया। उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका में वनडे सीरीज में जीत दर्ज की। वह 2011 में आईसीसी वर्ल्ड कप और 2013 में आईसीसी चैम्पियंस ट्रोफी जीतने वाली भारतीय टीम में शामिल थे।
उनकी कप्तानी में टीम 2017 में आईसीसी चैम्पियंस ट्रोफी के फाइनल में पहुंची थी। कोहली 2012 और 2017 में क्रमश: आईसीसी के सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय खिलाड़ी और सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार जीत चुके हैं। उन्होंने 5 बार सर्वश्रेष्ठ भारतीय क्रिकेटर का पुरस्कार भी जीता है। पीठ की चोट से उबर रही मीराबाई का भी हौसला इस खिताब से बढ़ेगा। इस विश्व चैम्पियन से भारत को 2020 तोक्यो ओलिंपिक में पदक की उम्मीद है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *