रीडर्स डाइजेस्ट का सर्वे: मुंबई दुनिया का दूसरा सबसे ईमानदार शहर

मुंबई को कई वजहों से वर्ल्ड क्लास सिटी कहा जाता है। शायद इसी वजह से यह लोगों के लिए सपनों का शहर भी है। हाल में मुंबई ने ईमानदारी में भी कीर्तिमान स्थापित किया है। दरअसल, रीडर्स डाइजेस्ट नाम की पत्रिका के एक सर्वे के जरिये इसका खुलासा हुआ है। यह सर्वे पूरी दुनिया में किया गया था। इस सर्वे में यह पता चला है कि मुंबई दुनिया का दूसरा सबसे ईमानदार शहर है। यह जानकारी महिंद्रा एंड महिंद्रा के सर्वेसर्वा आनंद महिंद्रा ने ट्वीट करके दी है।
चार महाद्वीपों में हुआ सर्वे
पत्रिका द्वारा यह सर्वे दुनिया के चार महाद्वीपों के 16 शहरों में करवाया गया था। ईमानदारी की परख करने वाला यह सर्वे बड़े ही अनोखे अंदाज में करवाया गया था।
वॉलेट एक्सपेरिमेंट
इस अनोखे सर्वे को द वॉलेट एक्सपेरिमेंट का नाम दिया गया था। जिसके तहत सभी सोलह शहरों में अलग-अलग जगहों पर रुपये से भरे बटुए गिराए गए थे। इसके बाद लौटाए गए बटुओं के आधार पर शहरों को उनकी ईमानदारी की रैंकिंग मिली है।
192 बटुए गिराए गए
इस पूरे सर्वेक्षण के दौरान कुल 192 बटुए यूरोप, उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका तथा एशिया के विभिन्न शहरों में गिराए गए थे। हर बटुए में एक मोबाइल नंबर के पारिवारिक फोटो, कूपन, बिज़नेस कार्ड्स और स्थानीय मुद्रा के हिसाब से 50 डॉलर (तकरीबन 3600 रुपए) रखे गए थे। इन बटुओं को पार्क, शॉपिंग मॉल और सड़कों के किनारे गिराया गया था। इसके बाद सर्वेक्षण करने वाले लोगों ने मॉनिटर करना शुरू किया कि आखिर इन बटुओं के साथ क्या होता है?
हैरान करने वाले नतीजे!
सर्वेक्षण के दौरान यह पता चला कि फ़िनलैंड के हेलसिंकी में गिराये गए 12 बटुओं में से 11 को लोगों ने लौटा दिया है। वहीं मुंबई में भी सर्वेक्षण करने वालों ने 12 बटुए गिराए थे। जिनमें 9 को लोगों ने वापस लौटा दिया था। मुंबई में जीपीओ के पास गिराए गए बटुए को वैशाली नाम की एक महिला और स्टैम्प बेचने वाले व्यक्ति ने वापस लौटा दिया था। वैशाली ने बताया कि वे अपने बच्चों को ईमानदार बनने के लिए कहती हैं क्योंकि यही बात मेरे पेरेंट्स ने मुझे सिखाई थी। बटुआ लौटाने वालों में से एक वीडियो एडिटर राहुल रॉय भी हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *