कोरोना से निपटने के लिए रतन टाटा ने 500 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया

नई दिल्‍ली। कोरोना के खिलाफ जंग में देश के उद्योगपति सामने आ रहे हैं। टाटा ट्रस्ट ने कोरोना से निपटने के लिए 500 करोड़ रुपए का ऐलान किया है।
टाटा ग्रुप के चेयरमैन रतन टाटा ने कहा कि इसके लिए इमर्जेंसी रिसोर्स की जल्द से जल्द आपूर्ति होनी चाहिए। इससे पहले मेदांता ग्रुप के अनिल अग्रवाल ने 100 करोड़ का ऐलान किया था। महिन्द्रा ग्रुप के आनंद महिन्द्रा ने कहा कि वह एक महीने की पूरी सैलरी देंगे।
कोरोना को कंट्रोल करने के लिए देश के सभी अस्पतालों में डॉक्टर, नर्स और अन्य मेडिकल कर्मी दिन-रात काम कर रहे हैं। वे अपने जीवन और परिवार की परवाह छोड़कर इस मुहिम में जुटे हुए हैं। इंफेक्शन का डर इतना है कि वे घर तक नहीं जा रहे हैं। ऐसे में उनको दो वक्त का खाना भी ठीक से नसीब नहीं हो रहा है। इन हालात में टाटा ग्रुप के ताज होटेल ने मुंबई में मेडिकल कर्मियों, मरीजों के लिए खाने का प्रबंध किया है।
मुंबई महानगर पालिका (BMC) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। ट्वीट में BMC ने कहा है कि हमने ताज कैटरर्स के साथ कोलैबोरेशन किया है। ताज होटेल की तरफ से बीएमसी के अस्पतालों में भर्ती मरीजों, डॉक्टरों और अन्य मेडिकल कर्मियों को खाने का प्रबंध किया गया है।
ताज होटेल की तरफ से किए जा रहे इस नेक काम पर कई सिलेब्रिटी और बिजनेसमैन ने खुशी जताई है। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने ताज होटेल को सलाम किया है।
आरपीजी ग्रुप के चेयरमैन हर्ष गोयनका ने भी टाटा ग्रुप की तारीफ की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि टाटा ग्रुप संकट की घड़ी में हमेशा दूसरों से आगे खड़ा रहता है।
टाटा ग्रुप पहले ही ऐलान कर चुका है कि वह देशभर में अपने ऑफिस और मैन्युफैक्चरिंग साइट्स पर काम करने वाले अस्थाई कर्मचारियों तथा दिहाड़ी मजदूरों को पूरा वेतन देगा। टाटा की कुछ कंपनियों जैसे टाटा प्रोजेक्ट्स में भारी तादाद में अस्थाई कर्माचारी कंस्ट्रक्शन गतिविधियों से जुड़े हैं। कंपनी ने यह भी कहा है कि अगर कोई कर्मचारी किसी वजह से ऑफिस नहीं भी आता है, जैसे अभी लॉकडाउन में सबकुछ बंद है, उस परिस्थिति में भी सैलरी नहीं काटी जाएगी।
बुधवार को बिस्किट बनाने वाली कंपनी पार्ले प्रॉडक्ट ने घोषणा की थी कि वह अगले तीन सप्ताह के भीतर तीन करोड़ बिस्किट का पैकेट दान करेगी।
इससे पहले वेदांत ग्रुप के चेयरमैन अनिल अग्रवाल ने कोरोना के खिलाफ जंग में 100 करोड़ देने का वादा किया था। पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा ने पांच करोड़ देने का ऐलान किया है।
रिलायंस ग्रुप ने मुंबई में बीएमसी की मदद से कोरोना के लिए स्पेशल अस्पताल का निर्माण किया है। यह 100 बेड वाला अस्पताल है। बीएमसी की मदद से इसे दो हफ्ते में तैयार किया गया है। इस अस्पताल का नाम भी कोविड-19 रखा गया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *