रामविलास पासवान ने कहा, बेटे चिराग के हर फैसले में उसके साथ

नई दिल्‍ली। केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी के दिग्गज नेता रामविलास पासवान ने कहा है कि वो पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के हर फैसले में उनके साथ खड़े हैं। बिहार चुनाव 2020 से ठीक पहले उन्होंने ये बात कहकर कई संकेत दिए हैं।
उन्होंने शुक्रवार सुबह में बेहद भावनात्मक ट्वीट में बताया कि उनकी तबीयत काफी समय से खराब थी लेकिन काम में बाधा नहीं आए इसलिए वो अस्पताल नहीं गए। हालांकि, अब बेटे चिराग के कहने पर वो अस्पताल गए हैं। इस समय मेरा बेटा मेरे साथ है। पासवान का ये ट्वीट ऐसे समय में आया है जब उनके और बेटे चिराग के बीच अनबन की अटकलें लगाई जा रही थीं।
केंद्रीय मंत्री का इमोशनल ट्वीट, स्वास्थ्य की दी जानकारी
एलजेपी के संस्थापक और पार्टी के वरिष्ठ नेता रामविलास पासवान ने शुक्रवार को एक के बाद एक तीन ट्वीट किए। इसमें उन्होंने अपने सेहत की जानकारी देते हुए बेटे चिराग पासवान की ओर से उठाई जा रही जिम्मेदारियों का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, ‘कोरोना संकट के समय खाद्य मंत्री के रूप में निरंतर अपनी सेवा देश को दी और हर सम्भव प्रयास किया कि सभी जगह खाद्य सामग्री समय पर पहुंच सके। इसी दौरान तबियत ख़राब होने लगी लेकिन काम में कोई ढिलाई ना हो, इस वजह से अस्पताल नहीं गया।’
‘मुझे खुशी है कि इस समय मेरा बेटा चिराग मेरे साथ है’
अगले ट्वीट में केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘मेरी खराब तबीयत का एहसास जब चिराग को हुआ तो उसके कहने पर मैं अस्पताल गया और अपना इलाज करवाने लगा। मुझे खुशी है कि इस समय मेरा बेटा चिराग मेरे साथ है और मेरी हर सम्भव सेवा कर रहा है। मेरा ख्याल रखने के साथ साथ पार्टी के प्रति भी अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभा रहा है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘मुझे विश्वास है कि अपनी युवा सोच से चिराग पार्टी और बिहार को नई ऊंचाईयों तक ले जाएगा। चिराग के हर फैसले के साथ मैं मजबूती से खड़ा हूं। मुझे आशा है कि मैं पूर्ण स्वस्थ होकर जल्द ही अपनों के बीच आऊंगा।’
बिहार चुनाव से ठीक पहले पासवान के इस ट्वीट के क्या हैं सियासी मायने
रामविलास पासवान के इस ट्वीट के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। खास तौर से बिहार में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उनका ये ट्वीट बेहद अहम माना जा रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि पिछले कुछ समय से एलजेपी और जेडीयू के बीच सबकुछ ठीक नहीं होने के संकेत मिल रहे हैं। जानकारी के मुताबिक एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान के नेतृत्व में हाल ही में पार्टी की एक बैठक हुई, जिसमें एलजेपी आगामी चुनाव में जेडीयू के खिलाफ उम्मीदवार उतारने की योजना बना रहा है। करीब 143 सीटों पर एलजेपी उम्मीदवारी कर सकती है। हालांकि, इस पर फैसला पार्टी के मुखिया चिराग पासवान को ही करना है। इस बीच रामविलास पासवान ने चिराग के हर फैसले में साथ होने की बात कही है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *