राखी सावंत ने बताया, ‘बिग बॉस 14’ में आने का कारण ‘कंगाली’

मुंबई। राखी सावंत किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। उन्हें इस इंडस्ट्री में दो दशक से भी ज्यादा का वक्त हो चुका है। ‘बिग बॉस 14’ में उनकी एंट्री हो चुकी है और मुख्य घर में भी वह जल्द ही जाएंगी। हाल ही राखी ने बताया कि वह ‘बिग बॉस 14’ क्यों कर रही हैं?
राखी बोलीं, हर हाल में ‘बिग बॉस 14’ जीतना चाहती हूं
बातचीत में राखी सावंत ने कहा कि वह ‘बिग बॉस 14’ इसलिए कर रही हैं क्योंकि वह कंगाल हो गई थीं और पैसों की सख्त ज़रूरत है। राखी ने बताया, ‘सच कहूं तो मुझे पैसों की बहुत जरूरत है। मैं बॉलीवुड में आने का दूसरा मौका चाहती हूं। मैं ट्रॉफी जीतना चाहती हूं। मैं हमेशा से यह शो जीतना चाहती थी, पर मेरे करियर में कभी ऐसा मौका आया ही नहीं। इस बार ‘बिग बॉस 14′ जीतना चाहती हूं। प्राइज मनी भी बहुत ज्यादा है-50 लाख। मैं कैश प्राइज जीतना चाहती हूं क्योंकि मुझे पैसों की जरूरत है।’
किसी करीबी ने दिया धोखा, हड़प लिए सारे पैसे और प्रॉपर्टी
राखी ने आगे कहा कि ‘लोग सोच रहे होंगे कि अचानक ही मुझे पैसों की जरूरत क्यों है, तो मैं सबको बताना चाहती हूं कि मुझे किसी ने चीट किया था। मैं अब अपना पैसा वापस नहीं पा सकती क्योंकि जिस शख्स ने मेरे साथ धोखाधड़ी की थी, वह मर चुका है। उस शख्स ने मेरे सारे पैसे, सारी प्रॉपर्टी ले ली थी और उसके साथ अब सब मर चुका है। अब मुझे पैसों की बहुत जरूरत है और इसलिए मैंने शो का ऑफर स्वीकार किया। मैं ट्रॉफी जीतना चाहती हूं। मानती हूं कि यह आसान नहीं होगा।’
पढ़ी-लिखी न होने के कारण राखी हुईं धोखे का शिकार, बताई आपबीती
राखी अपने बीते वक्त को लेकर दुखी हो गईं और आज भी मानती हैं कि एक गलती ने उनकी पूरी जिंदगी बर्बाद कर दी। राखी ने कहा, ‘मुझे अहसास हो गया है कि पढ़ाई कितनी जरूरी है। मुझे लगता है कि एक लड़की का पढ़ा-लिखा होना बहुत जरूरी है, खासकर अगर वह इस इंडस्ट्री में टिके रहना चाहती है तो। मैं बेवकूफ बन गई और मैंने बिना सोचे कागजों पर साइन कर दिए और वो साइन मेरी जिंदगी के सबसे बुरे साइन बन गए। मैं ये सभी चीजें ‘बिग बॉस 14′ में घर के अंदर जाकर बताने वाली थी। मैं सभी को बताना चााहती हूं कि सिलेब्रिटी बनना और इंडस्ट्री में टिके रहना आसान नहीं है। किसी पर भी भरोसा करने से और फैसला लेने से पहले सोचें जरूर।’
मां-बाप गरीब थे इसलिए राखी नहीं, सिर्फ भाई को पढ़ाया
राखी ने आगे बताया कि उनके पैरंट्स के पास इतने पैसे नहीं थे कि उन्हें भी पढ़ा सकें और इसलिए सिर्फ भाई को ही पढ़ाया। वह बोलीं, ‘मेरे पास बहुत ज्यादा विकल्प नहीं थे क्योंकि मेरे मां-बाप बहुत गरीब थे। हमारे पास इतने पैसे नहीं थे कि तीनों बच्चों को स्कूल भेजा जा सके। इसलिए मम्मी-पापा ने मेरे भाई को पढ़ाने का फैसला लिया। मैं स्कूल नहीं गई और मेरे साथ जो कुछ भी हुआ, उसके बारे में मैं बिग बॉस के घर में बताऊंगी।’
‘जिन पर भरोसा किया, उन्होंने ही पीठ में छुरा घोंपा’
राखी को इस बात का बहुत दुख है कि जिन लोगों पर उन्होंने भरोसा किया, उन्होंने ही उनकी पीठ में छुरा घोंपा। वह बोलीं, ‘मैं चाहती हूं कि कोई मेरी लाइफ पर सीरीज बनाए। तब लोगों को पता चलेगा कि किन लोगों ने मेरी मदद की और किन्होंने मेरी जिंदगी तबाह कर दी। मुझे लाइफ में कोई गाइड करने वाला नहीं था। कोई नहीं था यह बताने वाला कि क्या सही है और क्या गलत। इंडस्ट्री में मेरा कोई गॉडफादर नहीं था। जिन-जिन लोगों पर मैंने भरोसा किया, उन्होंने ही पीठ में छुरा घोंपा। जब आपकी जिंदगी बर्बाद करने वाले दोस्तों हो तो फिर दुश्मनों की जरूरत ही नहीं होती।’
डिप्रेशन में रहीं राखी सावंत, सुनाई दुखभरी कहानी
राखी ने उस दौर के बारे में भी बताया जब वह डिप्रेशन में चली गई थीं। उन्होंने कहा, ‘मैंने जिंदगी में कभी हार नहीं मानी। मैं जिंदगी जीना चाहती हूं और काम करना चाहती हूं। मैं भी डिप्रेशन में रही हूं। ऐसे कई लोग हैं जो डिप्रेशन में गलत कदम उठा लेते हैं। अपनी जिंदगी खत्म कर देते हैं। पर मैंने ऐसा कभी नहीं किया और न ही कभी ऐसा करूंगी। भगवान ने मुझे जिंदगी दी है और यह बहुत कीमती है। मैं मानती हूं कि पैसा हमेशा नहीं रहता लेकिन मैं यह भी जानती हूं कि मैं अपने टैलंट को फिर से निखार सकती हूं। जब मैं इस इंडस्ट्री में आई थी तो मेरे पास कोई दौलत या शोहरत या नाम नहीं था लेकिन टैलंट और कड़ी मेहनत से मुझे सब मिला। तब मेरे पास घर नहीं था, गाड़ी नहीं थी। किराए के घर में रह रही थी लेकिन आज सब मिला और टैलंट के बलबूते। कोई गॉडफादर नहीं था, फिर भी इंडस्ट्री में टिकी रही। बस एक ही नुकसान हुआ और उसी का दुख है कि मैंने पढ़ाई नहीं की। लोगों ने मुझे धोखा दिया।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *