राजस्थान कांग्रेस का झगड़ा सार्वजन‍िक, Sachin Pilot पर ही उठे सवाल

नई द‍िल्ली। कोटा, बूंदी, बीकानेर के अस्पताल में बच्चों की मौत के बाद राजस्थान सरकार में घमासान मचा हुआ है, आज स्वास्थ्य मंत्री ने Sachin Pilot पर ही सवाल उठा द‍िए हैं।

राजस्थान में कांग्रेस सरकार का झगड़ा अब खुलकर सामने आ रहा है। हाल ही में कोटा में बच्चों की मौत मामले में उप मुख्यमंत्री Sachin Pilot ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधा था। इसके बाद अब राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने राज्य के पीडब्ल्यूडी मंत्री सचिन पायलट को घेरते हुए कहा कि जब अस्पताल की छत टपक रही थी और खिड़कियां टूटी हुई थी तो अस्पताल प्रशासन पीडब्ल्यूडी विभाग को लिख रहा था। इसे ठीक करने के लिए कदम क्यों नहीं उठाए गए? उन्होंने कहा कि जिम्मेदारी सभी जनप्रतिनिधियों की बनती है। हर महीने मीटिंग होती है, उसमें स्थानीय जनप्रतिनिधि क्यों नहीं जाते हैं ताकि अस्पताल की समस्या के बारे में समझाया और बताया जा सके। दरअसल, कोटा में सचिन पायलट ने जिम्मेदारी तय करने की बात कही थी।

गौरतलब है क‍ि कोटा के जेके लोन गवर्नमेंट हॉस्पिटल में तीन बच्चों की और मौत होने से कुल तादाद रविवार को 110 पर पहुंच गई। शनिवार को यह आंकड़ा 107 का था। राज्य सरकार की एक जांच समिति ने यहां पाया कि अस्पताल में बिस्तरों की संख्या में कमी है और इसमें सुधार किया जाना चाहिए।

बीकानेर के सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल एचएस कुमार ने बताया कि, दिसंबर महीने में अस्पताल के आईसीयू में 162 बच्चों की मौत हुई है। लेकिन अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर कोई लापरवाही नहीं बरती गई। बच्चों की जिंदगी बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है।

जोधपुर के डा. संपूर्णानंद मेडिकल कॉलेज में दिसंबर महीने में 146 नवजातों की मौतें दर्ज की गई हैं। हालांकि अस्पताल के प्रमुख डा.एसएस राठौर ने कहा है कि अस्पताल में भर्ती बच्चों की तुलना में यह आंकड़ा कम है। इसके अलावा अस्पताल में दूसरे अस्पतालों से बहुत मुश्किल केस भी रैफर होते हैं। अस्तपाल में 4,689 बच्चे दिसंबर में भर्ती हुए और इनमें से केवल तीन प्रतिशत को बचाया नहीं जा सका।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *