अमेठी में बोले राहुल: मोदी सरकार ने जीएसटी को समझा ही नहीं

अमेठी। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दौरे पर हैं। राहुल ने अपने दौरे के पहले दिन अमेठी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और लोगों को संबोधित किया। इस दौरान राहुल ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। अमेठी पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष का कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया।
राहुल ने नोटबंदी के फैसले के बाद देश की गिरती जीडीपी को लेकर सवाल उठाए। इसके साथ ही राहुल ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘मोदी सरकार ने 5 अलग-अलग टैक्स लगाए। 28 प्रतिशत तक टैक्स लगा दिया। हर प्रदेश में अलग-अलग टैक्स लगा दिया। छोटे दुकानदारों को काफी मुश्किल हो रही है। किसी का 18 किसी का 2 किसी का 28 प्रतिशत टैक्स। इन्होंने जीएसटी को समझा नहीं है, गलत जीएसटी लागू कर दिया है। अब छोटा व्यापारी व्यापार करे या महीने में 3 फॉर्म भरे। हर छोटा दुकानदार तंग आ गया है। लोग रो रहे हैं।’
राहुल ने साथ ही रोजगार के मामले में मोदी सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा, ‘बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। हिंदुस्तान में हर रोज 30 हजार युवा रोजगार ढूंढ़ने के लिए निकलते हैं। 30 हजार में से सिर्फ 400 को रोजगार देते हैं। यह है मोदी सरकार का मेक इन इंडिया। क्या भैया आप लोग बता सकते हो चीन में रोज कितने रोजगार पैदा होते हैं। हर रोज चीन में 50 हजार युवाओं को रोजगार मिलता है। जबकि भारत में बाकी 30 हजार में से जो बच गए, उन्हें रोजगार नहीं मिलता। पूरे देश को मालूम है कि इस व्यक्ति (नरेंद्र मोदी) ने कहा था कि 2 करोड़ लोगों को हर साल रोजगार मिलेगा। युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है। किसानों की जान जा रही है। किसानों की जमीन को हम किसी सूरत में छीनने नहीं देंगे।’
राहुल ने तल्ख तेवर में कहा, ‘जीएसटी का लक्ष्य जैसा आपने (मोदी सरकार) कहा कि एक देश एक टैक्स। कांग्रेस पार्टी ने कहा था कि एक टैक्स होना चाहिए और 18 प्रतिशत से ज्यादा नहीं होना चाहिए। बीजेपी ने 28 प्रतिशत टैक्स लगा दिया। छोटे दुकानदारों से थोड़ी बातचीत करनी चाहिए थी। कहा था जनता का फायदा होगा, युवाओं का फायदा होगा लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ।’
राहुल ने मनरेगा को लेकर भी मोदी सरकार पर हमला बोला। राहुल ने कहा कि उन्होंने (पीएम मोदी ने) कहा कि नरेगा बिल्कुल बेकार चीज है। कुछ महीने बाद बात समझ में आई और वही पीएम कहते हैं कि इस योजना में फायदा है।
कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, ‘जब तक हमने चीन से मुकाबला नहीं किया। मेड इन अमेठी नहीं करेंगे, मेड इन उत्तर प्रदेश नहीं करेंगे, यह देश आगे नहीं जा सकता है। मोदी जी कह दें कि मैं नहीं कर सकता हूं और कांग्रेस पार्टी आ जाए मेरा काम कर दे। हम वह काम एक महीने के अंदर करके दिखा देंगे। यहां पर अमेठी में फूड पार्क का काम किया था। मोदी सरकार ने उसे निकाल दिया। हम आपके लिए लड़ेंगे, जैसे हमने आपके लिए पहले काम किया था, उससे दोगुना काम करेंगे। आप लोगों के बीच आकर दो-तीन बातें बोलीं। किसानों की मदद करेंगे, उनको सही रेट दिया जाएगा। किसान आत्महत्या क्यों कर रहा है। आपने देखा होगा कि अमित शाह जी कहते हैं कि 15 लाख रुपये मिलने वाली बात चुनावी जुमला था। मैं पूछता हूं कि किसानों की मदद करने की बात भी क्या जुमला था।’
इससे पहले राहुल गांधी के अमेठी दौरे पर विवाद खड़ा हो गया था। राहुल 4 से 6 अक्टूबर तक अमेठी के दौरे पर हैं। जिला प्रशासन ने पहले उनके दौरे को हरी झंडी नहीं दी थी। हालांकि बाद में प्रशासन ने दौरे को मंजूरी दे दी।
-एजेंसी