राहुल गांधी ने भारत को दुनिया का रेप कैपिटल बताया

वायनाड। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने महिलाओं की सुरक्षा का मुद्दा उठाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा तो भारत को दुनिया का रेप कैपिटल बताया है। उन्होंने कहा कि भारत दुनिया के रेप कैपिटल के रूप में जाना जाता है। अपने संसदीय क्षेत्र केरल के वायनाड में एक कार्यक्रम में राहुल गांधी ने रेप और हत्या के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर केस में पीएम की चुप्पी पर सावल उठाया।
राहुल गांधी ने कहा, ‘भारत दुनिया के रेप कैपिटल के रूप में जाना जाता है। दूसरे देश पूछ रहे हैं कि क्यों भारत अपनी बहन-बेटियों की सुरक्षा नहीं कर पा रहा है। एक बीजेपी एमएलए एक महिला के रेप में शामिल है लेकिन पीएम इस पर एक शब्द भी नहीं बोलते हैं।’
इससे पहले कांग्रेस नेता ने उन्नाव रेप पीड़िता की मौत पर दुख जताया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘उन्नाव की मासूम बेटी की दुखद एवं हृदय विदारक मौत, मानवता को शर्मसार करने वाली घटना से आक्रोशित एवं स्तब्ध हूं। एक और बेटी ने न्याय और सुरक्षा के आस में दम तोड़ दिया। दुःख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के प्रति मै आपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।’
‘देश चलाने वाले का हिंसा में यकीन’
देश में बढ़ रही हिंसक और रेप की घटनाओं के लिए राहुल ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं इसलिए बढ़ रही हैं क्योंकि मौजूदा सरकार हिंसा में यकीन रखती है। राहुल ने आगे पीएम नरेंद्र मोदी का नाम लिए बिना कहा, ‘संस्थागत संरचनाएं के फेल होने के पीछे बड़ी वजह है। लोगों द्वारा कानून को हाथ में लेने की एक वजह है। ऐसा इसलिए है क्योंकि शख्स जो इस वक्त देश को चला रहा है वह हिंसा में यकीन रखता है।’
‘बढ़ गया है अत्याचार’
राहुल बोले कि आप देख रहे होंगे कि देश में हिंसा, अधर्म और महिलाओं के खिलाफ अत्याचार बढ़ गया है। किसी न किसी महिला से रेप या छेड़खानी की खबर रोज आती है। कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि अल्पसंख्यकों, दलितों को पीटा जा रहा है। आदिवासियों की जमीन छीनी जा रही है। राहुल के इस बयान पर भाजपा नेता मनोज तिवारी ने पलटवार किया है। मनोज तिवारी ने कहा राहुल गांधी कभी भी भारत को एक गर्वित देश के रूप में न तो देख सकते हैं, न बना सकते हैं। समय-समय पर वह ऐसे बयान देते रहते हैं जो उन्हें मानसिक रूप से परेशान दिखाता है। पहले भी उन्होंने पीएम के लिए गलत शब्दों का इस्तेमाल किया और उन्हें अदालत में माफी मांगनी पड़ी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *