श्रीकृष्ण-जन्मस्थान पर श्रीराधाजी के जन्म की मची धूम

मथुरा। श्रीकृष्ण-जन्मभूमि पर श्रीराधाष्टमी धूमधाम से मनाई गई। आज बुधवार को श्रीराधा जन्ममहोत्सव शास्त्रोक्त मर्यादाओं व  परंपराओं के अनुरूप श्रद्धाभाव से मनाया गया।

शास्त्रीय मर्यादाओं के अनुरूप श्रीराधा नाम स्मरण मात्र से भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति एवं कृपा सहज ही प्राप्त हो जाती है। श्रीराधा जन्माष्टमी के अवसर पर श्रीकेशवदेव जी के अलौकिक श्रीविग्रह ने स्वयं श्रीराधा रूप में भक्तों को मनोहारी दर्शन दिये।

श्रीराधा जन्माष्टमी का मुख्य आयोजन प्रातः 8 बजे श्रीगणेश, नवग्रह आदि पूजन के उपरान्त प्रारम्भ हुआ। सर्वप्रथम श्रीराधा स्वरूप में विराजित भगवान श्रीकेशवदेव जी के सन्मुख श्रीकीरत-किशोरीजी के चल विग्रह का दिव्य जन्ममहाभिषेक किया गया। तदोपरान्त श्रीकृष्ण संकीर्तन मण्डल, जन्मस्थान के भक्तों के द्वारा श्रीकेशवदेव मंदिर से संकीर्तन के मध्य ‘चाव’ भागवत-भवन में विराजित श्रीराधाकृष्ण युगल-सरकार को अर्पित की ।

उद्दाम संकीर्तन एवं वैदिक मंत्रों के मध्य श्रीराधा जन्ममहाभिषेक को श्रीकृष्ण-जन्मस्थान सेवा-संस्थान के सचिव श्री कपिल शर्मा एवं प्रबंध समिति के सदस्य श्री गोपेश्वरनाथ चतुर्वेदी, मंदिर के पूजाचार्य श्री विन्ध्येश्वरी प्रसाद अवस्थी, श्री ब्रह्मानन्द मिश्रा, आचार्य श्री महेश चन्द शर्मा, श्री सनातन पण्डा द्वारा श्रीराधा जन्ममहाभिषेक शास्त्रीय मर्यादाओं एवं परंपराओं के अनुरूप संपन्न कराया गया।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *