पीएम मोदी से मिले बॉलिवुड के प्रतिनिधिमंडल में महिलाओं की गैर मौजूदगी पर सवाल

मुंबई। पिछले दिनों बॉलिवुड के प्रतिनिधि मंडल के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की एक खास मीटिंग रखी गई, जिसमें बॉलिवुड के गिने-चुने ऐक्टर्स और प्रोड्यूसर शामिल थे। इस मुलाकात में इंडियन फिल्म इंडस्ट्री और उनसे जुड़े लोगों की समस्याओं पर बातचीत की गई। इस मीटिंग में अक्षय कुमार भी मौजूद थे और उन्होंने इसके बाद एक ट्वीट भी किया है। अक्षय के इस ट्वीट पर दीया मिर्जा ने अपनी नाराजगी जाहिर की है।
अक्षय कुमार ने पीएम मोदी से हुई इस मुलाकात के बाद एक ट्वीट किया। उन्होंने एक तस्वीर भी शेयर की, जिसके साथ कैप्शन में उन्होंने प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुए लिखा है कि उन्होंने अपना समय निकाला और बॉलिवुड फिल्‍म इंडस्ट्री से जुड़े मुद्दों पर उन्होंने बातचीत की। उन्होंने यह भी लिखा है कि पीएम ने इस मुलाकात में इंडस्ट्री की ओर से दिए गए सुझावों के लिए सकारात्मक आश्वासन भी दिया।
दीया ने अक्षय कुमार के इसी ट्वीट को रीट्वीट करते हुए अपनी नाराजगी जताई है। उन्होंने इस ट्वीट पर @akshaykumar को टैग करते हुए लिखा है, ‘यह बढ़िया है। क्या कोई खास वजह थी कि इस कमरे में एक भी महिला नहीं?
दीया के अलावा ‘लिपस्टिक अंडर माय बुर्का’ की डायरेक्टर अलंकृता श्रीवास्तव ने भी इस प्रतिनिधिमंडल में महिलाओं की गैर मौजूदगी पर सवाल उठाया है।
बता दें कि बॉलिवुड के इस प्रतिनिधि मंडल में रितेश सिद्धवानी, करण जौहर, सिद्धार्थ रॉय कपूर, राकेश रोशन, रॉनी स्क्रूवाला और सेंसर बोर्ड के चेयरमैन प्रसून जोशी शामिल थे। इन सबके अलावा इस मीटिंग में ऐक्टर-प्रोड्यूसर अक्षय कुमार और अजय देवगन भी मौजूद थे।
बताया जाता है कि इस मुलाकात में प्रधानमंत्री के साथ फिल्म इंडस्ट्री और इससे जुड़े लोगों की समस्याओं के बारे में चर्चा की गई।
रिपोर्ट की मानें तो रितेश सिद्धवानी ने इस मुलाकात में प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि वे इस मामले में हस्तक्षेप करें और बॉलिवुड को ‘इंडस्ट्री’ यानी उद्योग का दर्जा दें तथा देश के राजकोष और आर्थिक विकास में फिल्मों के योगदान की अहमियत को समझें क्योंकि फिल्में ग्लोबल क्लचरल ऐम्बैसेडर के तौर पर दो देशों के बीच रिश्ते मजबूत करने का काम भी करती हैं।
साथ ही रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि प्रधानमंत्री ने इस पूरे मामले को स्वीकार करते हुए इस पर विचार करने की बात कही है। प्रधानमंत्री ने खुद भी इस बात को स्वीकार किया कि दुनियाभर के डेलीगेट्स के साथ मिटिंग के दौरान भारतीय सिनेमा का जिक्र और उस पर बातचीत भी होती है और भारतीय फिल्मों की हर कोई प्रशंसा भी करता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *