अमेरिका में विरोध प्रदर्शन की आग और तेज, 40 शहरों में curfew

वाशिंगटन। अमेरिका में अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद देशभर में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद कई शहरों में विरोध-प्रदर्शन एवं आगजनी व ह‍िंसक विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने वाशिंगटन डीसी समेत 40 शहरों में curfew लगा दिया है। एक न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक 40 शहरों में curfew लगा दिया गया है और 15 शहरों में 5,000 राष्ट्रीय गार्ड तैनात कर दिए हैं।

इसके अलावा वाशिंगटन डीसी में अतिरिक्त 2,000 गार्ड की तैनाती हो सकती है। नेशनल गार्ड ब्यूरो के प्रमुख जनरल जोसेफ लेंगयेल ने कहा कि अमेरिका के 15 शहरों में कुल 5,000 गार्ड सैनिक और एयरमैन प्रदर्शन को रोकने के लिए सरकार का समर्थन कर रहे हैं।

अमेरिका राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन ने इस दावे को खारिज किया था कि अमेरिका की पुलिस में नस्लीय प्रणाली अब भी मौजूद है। ब्रायन ने कहा कि कुछ लोग कानूनी कार्रवाई को नस्लीय भेदभाव बताकर सुर्खियां बटोर रहे हैं।
ब्रायन ने न्यूज़ एजेंसी सीएनएन से कहा कि उन्हें नहीं लगता कि पुलिस फोर्स में नस्लीय भेदभाव की भावना है। पूरे पुलिस बल के 99.9 फीसद लोग महान अमेरिकी है, जिसमें अफ्रीकी अमेरिकी भी हैं।

हालांकि डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जोई बिडेन ने विरोध प्रदर्शन का दौरा किया, उन्होंने कहा कि इस समय बेशक दर्द में हो लेकिन इस दर्द से हम खुद को बर्बाद नहीं कर सकते। बिडेन ने कहा कि राष्ट्रपति के तौर पर वो वार्तालाप को आगे बढ़ाएंगे और सबसे ज्यादा जरूरी चीज लोगों को सुनेंगे।

मिनेसोटा के गवर्नर ने शुक्रवार से शहर में लगे कर्फ्यू को बढ़ाकर सोमवार तक कर दिया है। जॉर्ज फ्लॉयड की दर्दनाक मौत के बाद मिनियापोलिस में बढ़ते विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए गवर्नर ने कर्फ्यू बढ़ाने का फैसला लिया है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि जल्द ही अमेरिका फार लेफ्ट एंटी फासिस्ट आंदोलन एंटीफा को आतंकवादी संगठन घोषित कर देगा। डोनाल्ड ट्रंप ने अपने ट्विटर हैंडल से इस बात की जानकारी दी। बता दें कि 25 मई से अमेरिका के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *