चीन से अमरीकी कंपनियों को वापिस बुलाने के लिए प्रस्ताव पेश

वॉशिंगटन। कोरोना वायरस महामारी के बीच अमरीका के एक जाने माने नेता ने देश की संसद में चीन से अमरीकी कंपनियों को वापिस बुलाने के लिए एक प्रस्ताव पेश किया है.
प्रस्ताव में कहा गया है कि जो कंपनियां चीन में अपने मैनुफ़ैक्चरिंग युनिट बंद कर अमरीका आना चाहती हैं उनके लिए ख़ास आर्थिक मदद देने की व्यवस्था की जानी चाहिए.
अमरीका में अब तक कोरोना के कारण 90 हज़ार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि यहां कोरोना संक्रमितों की संख्या 15.08 लाख है.
सासंद मार्क ग्रीन ने ‘द ब्रिंग अमरीकन कंपनीज़ होम ऐक्ट’ नाम का एक प्रस्ताव पेश किया है जिसमें कंपनी के चीन से वापिस लौटने का पूरा खर्च कवर करने की बात की गई है. उनका सुझाव है कि चीन से आयात होने वाले सामान पर आयात कर लगा कर जो पैसे मिलें उससे ये खर्च पूरा किया जा सकता है.
मार्क ग्रीन कहते हैं, “अमरीकी अर्थव्यवस्था अपने पैरों पर खड़ी हो सके इसके लिए में देश में निवेश बेहद ज़रूरी है. लेकिन अमरीकी कंपनियों के देश लौटने में सबसे बड़ी समस्या इसमें होने वाला खर्च है. एक वक्त जब पूरा विश्व आर्थिक परेशानी से गुज़र रहा है ऐसे में अमरीकी कंपनियों के लिए ये कदम खर्च बढ़ाने वाला और जोखिम लेने वाला हो सकता है.”
उन्होंने कहा, “चीन ने ये स्पष्ट कर दिया है कि वो एक भरोसेमंद मित्र नहीं है. अमरीका को फिर से आगे बढ़ाने के लिए ज़रूरी है कि अमरीका चीन पर अपनी निर्भरता ख़त्म करे. हमारे लिए ये नए रास्ते खौलने का मौक़ा है, हम आर्थिक मदद के ज़रिए देश में निवेश बढ़ा सकते हैं.”
साथ ही कोरोना महामारी के बीच चीन अमरीकी निवेशकों का फायदा न उठा सकें और अमरीकी नेशनल सिक्योरिटी के लिए रणनीतिक तौर पर अहम किसी तरह का महत्वपूर्ण निवेश न कर सके इसके लिए अलग से “सिक्योर आवर सिस्टम्स अगेन्स्ट चाइनाज़ टैक्टिक्स ऐक्ट” भी पेश किया है.
इसके अलावा नेता रॉन राइट और मार्क वीज़ी ने एक एयरपोर्ट इफ्रास्ट्रक्चर रीसोर्सेस सिक्योरिटी ऐक्ट पेश किया है. उनका कहना है कि ये ऐक्ट चीनी साइबर हमलों से अमरीका के क्रिटिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को बचाने के लिए है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *