PLI योजना से उत्पादन कारोबार में 520 अरब डॉलर की वृद्धि होने का अनुमान

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि मैन्युफैक्चरिंग और निर्यात बढ़ाने के मकसद से शुरू की गई उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन PLI योजना से उद्योगों में रोजगार के अवसर बढ़ने के साथ-साथ अगले पांच साल के दौरान उत्पादन कारोबार में 520 अरब डॉलर की वृद्धि होने का अनुमान है। पीएलआई योजना को लेकर बजट प्रावधानों पर आयोजित एक वेबिनार को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सरकार घरेलू स्तर पर मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए सुधारों को आगे बढ़ा रही है।
उन्होंने कहा कि 2021-22 के बजट में PLI योजना के लिए अगले पांच साल के दौरान दो लाख करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। ऐसा अनुमान है कि इस योजना के अमल में आने से अगले पांच साल में उत्पादन में 520 अरब डॉलर की वृद्धि होगी। मोदी ने कहा कि इस योजना का लाभ उठाने वाले उद्योगों में, ऐसा अनुमान है कि मौजूदा कार्यबल का आकार बढ़कर दोगुना हो जाएगा और आगे भी रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
कारोबार सुगमता बढ़ाने के लिए लगातार हो रहा काम
प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार देश में लगातार कारोबार सुगमता को बढ़ाने के लिए काम कर रही है और उनका अनुपालन बोझ कम कर रही है। इसके साथ ही माल भाड़ा, परिवहन और दूसरे साजो सामान पर आने वाली लागत को कम करने के लिए भी कदम उठा रही है। उन्होंने कहा, ‘उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना से दूरसंचार, ऑटो, औषधि, कपड़ा और खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा मिलेगा। पीएलआई योजना का मकसद देश के भीतर मैन्युफैक्चरिंग गतिविधियों को बढ़ावा देना और निर्यात में तेजी लाना है।’ प्रधानमंत्री ने उद्योगों से कहा कि वह देश की जरूरतों को पूरा करने के लिए उत्पादन करने के साथ-साथ दुनिया के दूसरे देशों के लिये भी माल का उत्पादन करें।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *