गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद यूपी में सियासत तेज, प्रियंका ने किया फोन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हाथरस में गैंगरेप पीड़िता ने पंद्रह दिन बाद इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। हाथरस की बेटी की मौत के बाद अब यूपी में सियासत तेज हो गई है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी, समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती समेत कई विपक्षी पार्टियों ने सीधे योगी सरकार को निशाने पर लिया है। इधर पीड़िता को न्याय दिलाने की मांग तेज हो गई है। लोगों ने ट्विटर पर हैशटैग अभियान शुरू कर दिया है।
हाथरस में बच्ची के साथ गैंगरेप किया गया था। गैंगरेप के बाद आरोपियों ने उसकी जीभ काट दी थी। इतना ही नहीं, उसकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी थी। घटना के नौ दिनों के बाद बच्ची होश में आई और तब उसने अपने साथ हुई वारदात को इशारों में बयान किया था।
‘असंवेदनशील सत्ता से नहीं कोई उम्मीद’
यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ‘हाथरस की गैंग रेप एवं दरिंदगी की शिकार एक बेबस दलित बेटी ने आख़िरकार दम तोड़ दिया। नम आंखों से पुष्पांजलि! आज की असंवेदनशील सत्ता से अब कोई उम्मीद नहीं बची।’
पीड़िता के पिता से प्रियंका बोलीं, मिलेगा न्याय
प्रियंका गांधी ने हाथरस रेप पीड़िता के पिता से फोन पर बात कर कहा, ‘हम आपके न्याय की लड़ाई लड़ेंगे, अभी आपको घर तक पहुंचाने के इंतजाम कर रहे हैं। मैं जल्द आपके घर आऊंगी। आपने अपनी बेटी खोई है, मैं आपका दर्द समझ सकती हूं। हम आपके साथ हैं।
इससे पहले प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि यूपी में महिलाओं की सुरक्षा के प्रति योगी आदित्यनाथ जवाबदेह हैं। बच्ची के हत्यारों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए। कांग्रेस महासचिव ने लिखा, ‘हाथरस में हैवानियत झेलने वाली दलित बच्ची ने सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। दो हफ्ते तक वह अस्पतालों में जिंदगी और मौत से जूझती रही। हाथरस, शाहजहांपुर और गोरखपुर में एक के बाद एक रेप की घटनाओं ने राज्य को हिला दिया है।’
‘सुरक्षा के प्रति जवाबदेह हैं योगी’
प्रियंका गांधी ने लगातार दो ट्वीट किए। दूसरे ट्वीट में उन्होंने योगी सरकार को निशाने पर लिया और लिखा, ‘ यूपी में कानून व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है। महिलाओं की सुरक्षा का नाम-ओ-निशान नहीं है। अपराधी खुले आम अपराध कर रहे हैं। इस बच्ची के क़ातिलों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। सीएम योगी आदित्यनाथ उप्र की महिलाओं की सुरक्षा के प्रति आप जवाबदेह हैं।’
‘फास्ट ट्रैक में चले केस, अपराधियों को जल्दी मिले सजा’
बहुजन समाज पार्टी की चीफ मायावती ने ट्वीट किया, ‘यूपी के हाथरस में गैंगरेप के बाद दलित पीड़िता की आज हुई मौत की खबर अति-दुःखद। सरकार पीड़ित परिवार की हर संभव सहायता करे व फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर अपराधियों को जल्द सजा सुनिश्चित करे, बीएसपी की यह मांग है।’
योगी सरकार ने प्रकट की संवेदना
इधर योगी सरकार में प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा, ‘घटना बेहद दुखद है। पूरी सरकार उस परिवार के साथ संवदेना प्रकट कर रही है। सरकार कानून के तहत कड़ी कार्यवाही करेगी। सरकार की तरफ से इसे मुआवजा नहीं कहना चाहिए पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपये की मदद दी जा रही है। परिवार वाले चाहते हैं कि सरकार की तरफ से सफदरगंज अस्पताल से बॉडी जल्द दिलवा दें तो सरकार उस दिशा में काम कर रही है। सरकार अपनी तरफ से हर संभव मदद कर रही है। मामले के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा, मामले में कठोर कार्यवाही होगी।’
ट्विटर पर हैशटैग अभियान तेज हो गया है। लोग न्याय की मांग कर रहे हैं। इसी के साथ शाम को सात बजे कैंडल जलाकर पीड़िता को श्रद्धांजलि देने की मांग की जा रही है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *