ट्रंप के कार्यक्रम से केजरीवाल और सिसौदिया का नाम कटने पर राजनीति

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की पत्नी मेलेनिया के साथ दिल्ली के सरकारी स्कूल के दौरे में अब सीएम अरविंद केजरीवाल और डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया शामिल नहीं होंगे।
आम आदमी पार्टी के सूत्रों का आरोप है कि केंद्र सरकार ने मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री का नाम कार्यक्रम से हटवाया है। पहले के कार्यक्रम के मुताबिक दोनों को अमेरिकी प्रथम महिला के साथ स्कूल के दौरे में शामिल होना था। हालांकि, सरकार ने कहा है कि नाम हटने से उनका कोई लेना-देना नहीं है।
संबित पात्रा ने कहा, ‘जरूरी मौकों पर ऐसे राजनीति नहीं करनी चाहिए। भारत सरकार ने यूएस को सलाह नहीं दी है कि किसे बुलाना है और किसे नहीं। हम इस तू-तू मैं-मैं में नहीं पड़ना चाहता।’
आप नेता और दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय ने इस बारे में फिलहाल बयान देने से इंकार कर दिया है। राय का कहना है कि आधिकारिक जानकारी मिलने के आने के बाद ही वह कुछ कह पाएंगे। 25 फरवरी को मेलेनिया दक्षिणी दिल्ली के सरकारी स्कूल में हैपीनेस क्लास देखने जाएंगी। मेलेनिया करीब 12 बजे स्कूल का दौरा करेंगी। वह करीब एक घंटा स्कूल में बिताएंगी और बच्चों से मुलाकात करेंगी। जब ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच मुलाकात चल रही होगी, उस समय वह बच्चों से मुलाकात कर रही होंगी। आपको बता दें कि पहली बार अमेरिका की कोई फर्स्ट लेडी दिल्ली के किसी स्कूल के स्टूडेंट्स से मिलेंगी।
इससे पहले 2010 में जब ओबामा भारत के दौरे पर आए थे, तब उनकी पत्नी मिशेल ओबामा ने मुंबई में बच्चों से मुलाकात की थी। केजरीवाल सरकार ने 2018 में दिल्ली के स्कूलों में हैपीनेस क्लास की शुरुआत की थी। यह क्लास नर्सरी से 8वीं तक के स्टूडेंट्स के लिए होती है। इसका मकसद बच्चों के मानसिक तनाव को दूर करना है। बताया जाता है कि हैपीनेस क्लास की मदद से बच्चों के व्यवहार में बहुत सकारात्मक बदलाव नजर आए हैं।
थरूर ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की पत्नी मिलेनिया ट्रंप का दिल्ली में इवेंट होना है। इस कार्यक्रम में अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को न्योता न मिलने का मामला तूल पकड़ चुका है। दिल्ली सरकार में ऐसी चर्चा है कि यह मोदी सरकार के कहने पर हुआ है। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी मुद्दे पर ट्वीट कर केंद्र सरकार को निशाने पर लिया। हालांकि, केंद्र सरकार का कहना है कि नाम शामिल करवाने या हटवाने में उनका कोई रोल ही नहीं है।
न्योता न मिलने से जुड़ी खबर को शेयर करते हुए कांग्रेस नेता शशि थरूर ने लिखा, ‘इस तरह की छोटी राजनीति कि लोगों को चुनकर न्योता दिया जाए मोदी सरकार कर रही है। यह लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं। राष्ट्रपति भवन के भोज, पीएम मोदी के कार्यक्रम में विपक्ष को न्योता न देना भले छोटी बात लग सकती है लेकिन यह भारत की छवि को कमजोर करता है।’
तू-तू मैं-मैं नहीं करनी: संबित पात्रा
संबित पात्रा ने कहा, ‘जरूरी मौकों पर ऐसे राजनीति नहीं करनी चाहिए। भारत सरकार ने यूएस को सलाह नहीं दी है कि किसे बुलाना है और किसे नहीं। हम इस तू-तू मैं-मैं में नहीं पड़ना चाहते।’
डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी मिलेनिया ट्रंप भारत दौरे के दौरान दिल्ली के सरकारी स्कूलों में बच्चों से मिलेंगी। मिलेनिया यहां पढ़ाई-लिखाई से इतर मस्ती की पाठशाला ‘हैप्पीनेस क्लास’ को देखेंगी। इसमें बच्चों को खुश करने और मनोरंजन के साथ उनका उत्साहवर्धन करने की कोशिश की जाती है। दिल्ली के सरकारी स्कूलों में ‘हैप्पीनेस क्लास’ वर्ष 2018 जुलाई से शुरू की गई थी। हैप्पीनेस क्लास का उद्घाटन तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा ने किया था। पहले खबर थी कि इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल भी उनके साथ मौजूद रहेंगे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *