ईवीएम को प्राइवेट कार से ले जाने की घटना पर राजनीतिक बवाल

नई दिल्ली। असम में गुरुवार को दूसरे चरण के मतदान के बाद ईवीएम को एक प्राइवेट कार से ले जाने की घटना पर राजनीतिक बवाल मच गया है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने इस मामले पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। राहुल गांधी ने जहां बीजेपी की नीयत पर सवाल उठाया, वहीं प्रियंका ने चुनाव आयोग से निर्णायक कार्यवाही की मांग की है।
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है वीडियो
सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक प्राइवेट कार में ईवीएम रखे होने और यह कार बीजेपी कैंडिडेट के होने का दावा किया गया है। हालांकि, न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक चुनाव आयोग की गाड़ी खराब होने के कारण ईवीएम को ले जाने में प्राइवेट कार की मदद लेनी पड़ी थी। लेकिन कांग्रेस नेताओं ने इसे मनगढ़ंत कहानी बताकर चुनाव आयोग से एक्शन की मांग की है।
प्रियंका की चुनाव आयोग, राजनीतिक दलों से अपील
राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी को लगता है कि गाड़ी खराब होने और फिर ऐन मौके पर बीजेपी प्रत्याशी की कार मौके पर पहुंचने के पीछे दाल में कुछ काला जरूर है।
इससे पहले प्रियंका ने यह वीडियो साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘जब भी निजी वाहन में ईवीएम ले जाये जाने के वीडियो सामने आते हैं तो ये चीजें आम होती हैं कि वाहन सामान्यत: भाजपा उम्मीदवारों या उनके सहयोगियों का होता है, इन वीडियो को इकलौती घटना के तौर पर लिया जाता है और खारिज कर दिया जाता है। भाजपा अपनी मीडिया मशीनरी का इस्तेमाल कर उन लोगों को आरोपी बनाती है जिन्होंने इसका खुलासा किया होता है।
कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘‘सच्चाई यह है कि इस तरह की कई घटनाओं की सूचना दी जा रही है और उनके बारे में कुछ भी नहीं किया जा रहा है। चुनाव आयोग को इन शिकायतों पर निर्णायक रूप से कार्यवाही करने और सभी राष्ट्रीय दलों द्वारा ईवीएम पर गंभीर पुनर्मूल्यांकन करने की आवश्यकता है।’’
गौरव गोगोई ने भी साधा निशाना
असम से कांग्रेस के सांसद गौरव गोगोई ने भी इस घटना पर आशंका जाहिर की और कहा कि ऐसी बातें हर चुनाव में होती हैं। उन्होंने कहा, “इससे पहले कि जनता का भरोसा पूरी तरह खत्म हो जाए, चुनाव आयोग को खुद को सुरक्षित करना चाहिए।”
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *