Couple Challenge कैम्पेन को लेकर पुलिस ने बताया खतरा

सोशल मीडिया पर #CoupleChallenge के वायरल होने के बाद पुलिस ने रिवेंज पोर्न और डीपफेक के खतरे से कपल्स को आगाह क‍िया है।
#CoupleChallenge हैशटेग के साथ अपनी तस्वीरें या एक-दूसरे से रैपिड फायर प्रश्नोत्तर के वीडियो इंस्टाग्राम, फेसबुक और ट्विटर समेत तमाम सोशल साइट्स पर पोस्ट कर रहे हैं। इंस्टाग्राम पर ही 40 हजार से ज्यादा तस्वीरें और छोटे वीडियो पोस्ट हो चुके हैं। भले ही यह चैलेंज बहुत क्यूट नजर आता हो, देशभर में साइबर एक्सपर्ट और पुलिस ने सावधान रहने की अपील की है। इस संबंध में कई शिकायतें भी आई हैं।

आइए जानते हैं क्या है Couple Challenge campaign? और क्यों पुलिस ऐसा नहीं करने को कह रही है?

क्या है यह #CoupleChallenge कैम्पेन?

कपल चैलेंज के हैशटेग के साथ हजारों लोग इंस्टाग्राम, फेसबुक और ट्विटर पर कपल्स के फोटो डाल रहे हैं। अब तक इंस्टाग्राम पर ही करीब 40 हजार तस्वीरों या छोटे वीडियो को इस हैशटेग के साथ पोस्ट किया जा चुका है।
इस ट्रेंड को लेकर सैकड़ों मीम भी आ गए हैं, जहां सिंगल लोग किसी सेलिब्रिटी की तस्वीर को फोटोशॉप के जरिए अपनी तस्वीर में जोड़ पोस्ट कर रहे हैं। इतना ही नहीं, कुछ सिंगल्स ने तो इस ट्रेंड का इस्तेमाल अपने अकेलेपन को मजाकिया अंदाज में दिखाने में किया है।

नागपुर पुलिस जैसे लॉ एनफोर्समेंट अथॉरिटी ने इस कैम्पेन का इस्तेमाल कोविड-19 महामारी को लेकर जागरुकता बढ़ाने के लिए भी किया। उसने ट्वीट किया कि महामारी के दौर में मास्क ही सबसे अच्छा कपल है।

पुलिस क्यों इस ट्रेंड से दूर रहने को कह रही है?

इस इंटरनेट चैलेंज ने पुलिस का भी ध्यान खींचा है और कई तरह की शिकायतें उन्हें मिल रही है। पुलिस ने कहा कि कई तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ की जा रही है। पोर्नोग्राफी, डीपफेक या अन्य साइबर क्राइम के लिए इसका इस्तेमाल किया जा रहा है। पुणे पुलिस ने ट्वीट कर कहा कि अपने पार्टनर के साथ फोटो पोस्ट करने से पहले दो बार सोचें।
कुछ लोगों ने पुलिस के सामने दावा किया है कि अश्लील वेबसाइट्स पर तस्वीरें पोस्ट करने के मामले भी सामने आ रहे हैं। पुणे के बाद यूपी पुलिस भी इस कैम्पेन को लेकर सक्रिय हो गई है। आगरा पुलिस ने कपल्स को सावधानी बरतने को कहा है। प्रेस ब्रीफिंग में पुणे में साइबर पुलिस स्टेशन में इंस्पेक्टर जयराम पाइगुडे ने कहा कि लोगों को इस तरह की तस्वीरें पोस्ट करने से पहले सजग रहने की जरूरत है।

रिवेंज पोर्न और डीपफेक क्या है?

पिछले कुछ वर्षों में हजारों लोगों- खास तौर पर महिलाओं, को डीपफेक और रिवेंज पोर्न जैसे साइबर क्राइम का शिकार होना पड़ा है। डीपफेक का मतलब होता है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का इस्तेमाल करते हुए कंप्यूटर से तस्वीरें और वीडियो बनाए जाते हैं। अपराधी किसी व्यक्ति के चेहरे को किसी मौजूदा वीडियो या तस्वीर पर सुपरइम्पोज करते हैं।
मार्च 2018 में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की पत्नी मिशेल ओबामा का एक फेक वीडियो रेडिट पर आया था। फेक ऐप का इस्तेमाल करते हुए उनका चेहरा एक पोर्न स्टार के चेहरे पर लगाया गया था। भारतीय अभिनेत्रियों के भी कई वीडियो भी इसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर अश्लील साइट्स पर डाले गए थे।

फेक या एडिटेड तस्वीरों का सोशल नेटवर्किंग और डेटिंग साइट्स पर इस्तेमाल कर लोगों को ब्लैकमेल करने, बदला लेने या धोखाधड़ी करने के मामले भी कम नहीं हैं। व्यक्ति की अनुमति के बिना उसकी अश्लील तस्वीरें या वीडियो बनाना और उसे इंटरनेट पर पोस्ट करना ही रिवेंज पोर्न है। साइबर अपराधी अक्सर व्यक्ति को परेशान करने के लिए भी ऐसा करते हैं।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *