पीएम का आश्वासान: CAB से डरने की जरूरत नहीं, भ्रम फैला रही है कांग्रेस

नई दिल्‍ली। CAB (नागरिकता संशोधन विधेयक) को लेकर असम और पूर्वोत्तर के राज्यों में बवाल के बीच आज आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद ट्वीट कर असम के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की और कहा कि नागरिकता बिल CAB से किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा। पीएम मोदी ने असम की स्थानीय भाषा और अंग्रेजी में ट्वीट किया। गौरतलब है कि राज्यसभा से भी यह बिल पास हो चुका है, लेकिन प्रदर्शनों का दौर जारी है।
पीएम का आश्वासान, CAB से डरने की जरूरत नहीं
पीएम मोदी ने असम के हितों की रक्षा की बात करते हुए ट्वीट किया, ‘मैं असम के अपने भाई-बहनों से अपील करना चाहता हूं CAB (नागरिकता संशोधन विधेयक) से किसी को भी चिंतित होने की जरूरत नहीं है। मैं आप सभी लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि कोई भी आपके अधिकारों, विशिष्ट पहचान और सुंदर संस्कृति को आपसे छीन नहीं सकता है। यह सब कुछ पहले की तरह गतिमान रहेगा और विकसित होता रहेगा।’
असम के लोगों को पीएम ने दिया भरोसा
पीएम मोदी ने इसके साथ ही पूर्वोत्तर के नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि केंद्र सरकार उनके हितों के साथ हमेशा खड़ी है। पीएम ने एक और ट्वीट में लिखा, ‘केंद्र सरकार और मैं आपके संवैधानिक, राजनीतिक, भाषाई, सांस्कृतिक और असम भूमि के नागरिकों के क्लॉज 6 के तहत सभी अधिकारों को संरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’
असम और त्रिपुरा में भारी हिंसा की घटनाएं
नागरिकता संशोधन विधेयक CAB को लेकर व्यापक विरोध-प्रदर्शन के बीच बिगड़ती कानून-व्यवस्था को संभालने के लिए असम के गुवाहाटी में कर्फ्यू की मियाद को अनिश्चितकाल के लिए बढ़ा दिया गया है। हालात पर नियंत्रण के लिए यहां सेना की दो टुकड़ियां तैनात की गई हैं। असम के 10 जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवा पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है।
त्रिपुरा में भी इंटरनेट पर बैन
त्रिपुरा में भी विरोधी प्रदर्शनों के बीच असम राइफल्स को तैनात कर दिया गया है। असम राइफल्स की एक-एक टुकड़ी को त्रिपुरा के कंचनपुर और मनु में तैनात किया गया है। उधर, विरोध प्रदर्शन को देखते हुए असम में कई उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। प्रदर्शनकारियों में बड़ी संख्या में छात्र शामिल हैं।
कांग्रेस लगा रही है पूर्वोत्तर में आग: पीएम मोदी
धनबाद। नागरिकता संशोधन बिल CAB को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर कांग्रेस सहित पूरे विपक्ष पर हमला बोला है। झारखंड में आयोजित एक चुनावी रैली में पीएम ने दो टूक कहा कि कांग्रेस ने हमेशा ही शरणार्थियों का इस्तेमाल किया और अब वह इस विधेयक CAB को लेकर पूर्वोत्तर में आग लगा रही है। पीएम ने कहा कि कांग्रेस और उनके साथ भ्रम फैला रहे हैं। पूर्वोत्तर के लोगों को मैं विश्वास दिलाता हूं कि उन्हें किसी के बहकावे में आने की जरूरत नहीं है। हम उनकी संस्कृति, भाषा, मान, सम्मान को और समृद्ध करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
नागरिक संशोधन बिल CAB के बहाने पीएम मोदी ने कांग्रेस पर प्रहार करते हुए कहा, कांग्रेस की नीति हमेशा रही है लूटो और लटकाओ। इनके नेता हर चुनाव के पहले बयान देते रहे हैं कि वे बाहर से आने वाले शरणार्थियों को नागरिकता देंगे पर क्या हुआ…अब वे फिर पलट गए। आखिर शोषित लोगों को अधिकार मिलना चाहिए कि नहीं? पड़ोसी देशों में अल्पसंख्यकों के साथ अत्याचार हुआ…लाखों अल्पसंख्यक सदियों तक शोषित रहे हैं। हम मानवीय दृष्टि से उन्हें नागरिकता देना चाहते हैं तो कांग्रेस को इसमें भी विरोध करना है।’
‘भ्रम फैला रही कांग्रेस’
पीएम मोदी ने कहा, कांग्रेस और उसके साथी पूर्वोत्तर में भी आग लगाने की कोशिश कर रहे हैं। वहां भ्रम फैलाया जा रहा है कि बांग्लादेश से बड़ी संख्या में लोग आ जाएंगे जबकि ये कानून पहले से ही भारत आ चुके शरणार्थियों की नागरिकता के लिए है। 31 दिसंबर 2014 तक जो भारत आए उन शरणार्थियों के लिए ही ये व्यवस्था है। इतना ही नहीं, पूर्वोत्तर के करीब-करीब सभी राज्य इस कानून के दायरे से बाहर हैं।
‘हम पर विश्वास कीजिए, बहकावे में न आइए’
असम के लोगों से शांति की अपील करते हुए पीएम ने कहा, ‘खासकर मैं असम के मेरे भाई-बहनों को विश्वास दिलाता हूं कि कोई भी उनके अधिकारों को नहीं छीन सकता। उनकी राजनीतिक विरासत, भाषा और संस्कृति को हमेशा ही संरक्षित करने और उन्हें आगे बढ़ाने के लिए हम काम करते रहेंगे। वहां के नौजवानों के उज्ज्वल भविष्य के लिए भारत सरकार पूरी ताकत से कंधे से कंधा मिलाकर काम करेगी। मैं अपील करता हूं कि कांग्रेस और उनके साथियों के बहकावे में न आएं।’
‘कांग्रेस की डिक्शनरी में जनहित नहीं’
चुनावी रैली में कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए पीएम ने कहा, ‘कांग्रेस और उसके साथियों की डिक्शनरी में कभी जनहित नहीं रहा। उन्होंने हमेशा स्वहित के लिए, परिवार हित के लिए काम किया। यही कारण है कि काले सोने पर बैठा ये धनबाद और ये पूरा इलाका संपदा से जितना समृद्ध है, उतनी ही अधिक गरीबी यहां बनी रही।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *