NRC पर प्रधानमंत्री मोदी का बयान अंतिम माना जाए: पीयूष गोयल

पणजी। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) मुद्दे पर टिप्पणी को अंतिम माना जाना चाहिए। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा NRC के देशभर में क्रियान्वयन के बयान पर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर गोयल ने कहा कि मेरा मानना है कि एक बार जब देश के प्रधानमंत्री ने कुछ कह दिया, तो उसे अंतिम बयान माना जाना चाहिए।
प्रधानमंत्री ने स्पष्ट रूप से कह दिया है, NRC का कोई सवाल नहीं है, कैबिनेट में कोई चर्चा नहीं है, उसके लिए कोई प्रावधान नहीं है, कोई कानून नहीं है। गोयल दक्षिण गोवा जिले के मार्गो टाउन में नागरिकता संशोधन अधिनियम के साथ-साथ राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को लेकर जागरूकता पैदा करने के लिए एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।
इन दो मुद्दों के साथ राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। इन्हें लेकर देश के विभिन्न भागों में हिंसा हुई है। गोयल ने कहा, मेरा मानना है कि नाराजगी का कारण राजनीतिक विचारधारा, खास तौर से कांग्रेस पार्टी द्वारा गुमराह किया जाना है। लोगों को अब समझ में आ गया है कि गुस्सा निराधार है।
उन्होंने कहा, एक गलतफहमी है कि सीएए एक विशेष समुदाय की नागरिकता ले लेगा। किसी की भी नागरिकता नहीं जाएगी। सिर्फ जो लोग अपने धर्म के कारण सताए गए हैं और भारत में शरण लिए हुए हैं, उन्हें इस संशोधन के जरिए नागरिकता सुनिश्चित की गई है। केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि फर्जी खबर गलत प्रचार करने के लिए फैलाई जा रही है, जो देश भर में छात्रों को गुमराह कर रही है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *