150वीं Gandhi जयंती पर न्यू यॉर्क टाइम्स में छपा पीएम मोदी का लेख

नई दिल्‍ली। राष्ट्रपिता महात्मा Gandhi की 150वीं जयंती पर देश-दुनिया में ‘बापू’ को याद किया जा रहा है। इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने राजघाट जाकर उन्हें याद करने के साथ-साथ अमेरिकी अखबार (न्यू यॉर्क टाइम्स) में एक लेख भी लिखा है। आज प्रकाशित किए गए इस लेख में Gandhi को ‘बेस्ट टीचर’ बताया गया है। साथ ही अंहिसा और प्रेम से भरी गांधी के सपनों की दुनिया बनाने के लिए सपाेर्ट मांगा गया है। लेख में एक्टिविस्ट मार्टिन लूथर किंग, नेल्सन मंडेला से जुड़े कुछ किस्से बताए गए हैं, जिनमें उन्होंने Gandhi की तारीफ की थी।
सबसे पहले मोदी ने मौलिक अधिकारों के बड़े एक्टिविस्ट मार्टिन लूथर किंग का जिक्र किया है।
लेख के मुताबिक मार्टिन भारत को किसी धार्मिक स्थल जैसा मानते थे क्योंकि वह Gandhi से काफी प्रभावित थे। लेख में मोदी ने नेल्सन मंडेला द्वारा की गई Gandhi की तारीफ का भी जिक्र किया। मोदी ने लिखा कि मंडेला Gandhi को महान योद्धा मानते थे, जिनके अंदर मानव समाज में फैले विरोधाभास के बीच पुल बनने की कमाल की काबिलियत थी।
लिखा है कि Gandhi के पास सामान्य सी चीजों के साथ बड़े स्तर पर लोगों को जागरूक करने की क्षमता थी।
मोदी ने लिखा, ‘वर्ना कौन चरखा, खादी को आर्थिक आत्मनिर्भरता और सशक्तिकरण का प्रतीक बना सकता है?’ मोदी लिखते हैं कि चुटकीभर नमक के दमपर बड़ा आंदोलन (दांडी यात्रा) खड़ा करने की ताकत गांधी में ही थी।
Gandhi की तारीफ में मोदी लिखते हैं, ‘दुनियभार में कई बड़े आंदोलन हुए। भारत में स्वतंत्रता के लिए भी कई आंदोलन हुए, लेकिन इन सबमें गांधी का संघर्ष सबसे अलग था। उन्होंने कभी कोई सरकारी पद नहीं लिया। उन्हें सत्ता का मोह नहीं रहा।’
गांधी बेस्ट टीचर
मोदी लिखते हैं कि खुद को सही रास्ते पर चलाने के लिए Gandhi हमारे बेस्ट टीचर हैं। ‘मानवता, सतत विकास या आर्थिक आत्मनिर्भरता, गांधी के पास सबके लिए समाधान थे।’ आगे मोदी ने लिखा है कि भारत गांधी के सपनों को पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।
लोगों को दिया चैलेंज
मोदी ने अपने लेख में अंत में एक चैलेंज दिया है। आने वाली पीढ़ी गांधी को कैसे याद रखे, इसके लिए क्या किया जाए? इस पर आइडिया मांगे गए हैं। अंत में मोदी ने लिखा, ‘चलिए, कंधे से कंधा मिलाकर संसार को समृद्ध बनाएं, नफरत और हिंसा को खत्म करें। तब ही गांधी का संसार बनेगा, जैसा उनके पसंदीदा भजन ‘वैष्णव जन’ में बताया गया है।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *