यूपी के मंत्रियों से बोले पीएम मोदी: योगी जी ने आप लोगों को इतनी छूट दे रखी है, मैं तो यह भी नहीं देता

पीएम नरेंद्र मोदी 16 मई यानी सोमवार को करीब 3 घंटे लखनऊ में रहे थे। इस दौरान उन्होंने योगी सरकार के मंत्रियों और भाजपा संगठन के नेताओं को गुड गवर्नेंस के टिप्स दिए। सरकार के कामकाज की रिपोर्ट ली। भविष्य की योजनाओं पर चर्चा की। इस दौरान पीएम मोदी ने एक बात कही, जिसकी चर्चा यूपी के सियासी गलियारे में खूब हो रही है। मोदी ने मंत्रियों से कहा कि योगी जी ने आप लोगों को इतनी छूट दे रखी है, मैं तो यह भी नहीं देता। पीएम ने अपने इस संदेश से साफ कर दिया कि शासन किस प्रकार केंद्रित तौर पर चलाया जाता है। मंत्रियों को उन्होंने सभी कार्यक्रम लागू कराने और कार्य को तेजी से पूरा कराने का संदेश दिया।
2024 के लोकसभा चुनाव पर नजर के संकेत
यूपी सरकार के मंत्रियों से पीएम नरेंद्र मोदी की मुलाकात को वर्ष 2024 की चुनाव तैयारियों के संदर्भ में देखा जा रहा है। वर्ष 2014 में सत्ता में आई भारतीय जनता पार्टी लगातार तीसरी बार देश की सत्ता पर काबिज होने की रणनीति तैयार कर रही है। इसके लिए उत्तर प्रदेश सबसे अहम रण है। इस रण को पार्टी हर हाल में जीतना चाहती है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं फ्रंट से लीड करते दिख रहे हैं। वर्ष 2017 को याद करिए, तब करीब 15 साल भाजपा की प्रदेश की सत्ता में वापसी हुई थी। मोदी फैक्टर तब बड़ा कारण बना था। उस समय 20 जून को पीएम नरेंद्र मोदी ने योगी कैबिनेट के मंत्रियों के साथ डिनर किया था। हालांकि, उसे राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर रामनाथ कोविंद के प्रति समर्थन जुटाने के अभियान के रूप में देखा जाता है। सीएम आवास के उस भोज में समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव भी पहुंचे थे।
निर्णयों से सीखने पर दिया जोर
पीएम नरेंद्र मोदी ने यूपी सरकार के मंत्रियों से सीखने पर जोर देने की बात कही। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार के फैसले काफी प्रभावी रहे हैं। लाउडस्पीकर पर योगी सरकार के फैसले का उदाहरण देते हुए पीएम ने कहा कि अगर कानून सबके लिए बराबर नहीं होता तो योगी सरकार लाउडस्पीकर उतरवाने में कामयाब नहीं हो पाती। उन्होंने कहा कि इस सफलता के पीछे मंत्र यही रहा, कानून की नजर में सभी एक समान हैं। सभी मंत्रियों को इस दिशा में काम करना चाहिए।
पीएम नरेंद्र मोदी ने यूपी सरकार के मंत्रियों को फिजूलखर्ची से बचने की सलाह दी। दरअसल, पीएम मोदी अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों से भी फिजूलखर्ची पर लगाम लगाने की सलाह देते रहे हैं। साथ ही, ट्रांसफर-पोस्टिंग में मंत्रियों को न फंसने का संदेश भी प्रधानमंत्री ने दिया।
सोशल मीडिया से जुड़ने का दिया संदेश
पीएम नरेंद्र मोदी ने योगी सरकार के मंत्रियों को सोशल मीडिया से जुड़ने का संदेश दिया क्‍योंकि वर्तमान में सोशल मीडिया पर एक बड़ी आबादी अपना काफी समय बिताती है। ऐसे में भाजपा की नीति इस बड़ी आबादी की भावनाओं से जुड़ने की होती है।
थॉमस कप में भारत की पहली जीत के बाद तमाम नेताओं ने टीम को बधाई दी। पीएम मोदी ने योगी सरकार के मंत्रियों से पूछा कि कितने लोगों ने भारतीय बैडमिंटन टीम को बधाई दी। इससे सोशल मीडिया पर मंत्रियों के जुड़ाव की भी समीक्षा पीएम मोदी कर गए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *