कोरोना वायरस पर बोले पीएम मोदी: मंत्री व‍िदेश नहीं जाऐंगे, गैर जरूरी यात्राओं से बचें देशवासी

नई द‍िल्ली। कोरोना वायरस में लेकर देश में पूरी सतर्कता बरती जा रही है। इस बारे में पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि COVID -19 नॉवेल कोरोनावायरस की स्थिति को लेकर सरकार पूरी तरह सतर्क है। सभी मंत्रालयों और राज्यों में सभी की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कई कदम उठाए गए हैं।

इसके लिए उठाए गए काफी व्यापक हैं, जिसमें वीज़ा निलंबन से लेकर स्वास्थ्य सेवा की क्षमता बढ़ाना शामिल है। ऐसे में घबराने की कोई जरूरत नहीं हैा इसके लिए सावधानियां बरते जाने की जरूरत है। केंद्र सरकार का कोई भी मंत्री आगामी दिनों में विदेश यात्रा नहीं करेगा। मैं अपने देशवासियों से आग्रह करता हूं कि वे गैर जरूरी यात्रा से भी बचें। हम बड़ी सभाओं को टालकर कोरोना के प्रसार की श्रृंखला को तोड़ सकते हैं और सभी की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकते हैं।

भारत में कोरोनावायरस मामलों की संख्या गुरुवार को 73 पहुंच गई। बुधवार को जारी सरकार के आदेश के मुताबिक, 13 मार्च को शाम 5.30 बजे (12 जीएमटी) से अगले 35 दिन के लिए दुनिया के किसी भी देश के हर व्यक्ति के वीजा रद्द कर दिए गए हैं। सिर्फ डिप्लोमैटिक और एम्प्लॉयमेंट वीजा को छूट दी गई है। सरकार ने साफतौर पर कहा है कि अगर जरूरी न हो तो भारतीयों को विदेशों में जाने से बचना चाहिए। भारत में रह रहे सभी विदेशियों के वीजा वैध बने रहेंगे।

केंद्र सरकार के दफ्तरों में 31 मार्च तक बायोमीट्रिक अटेंडेंस पर रोक लगा दी गई है। देश के 30 एयरपोर्ट्स पर विदेश से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। चीन, इटली, ईरान, दक्षिण कोरिया, फ्रांस, स्पेन और जर्मनी से 15 फरवरी के बाद आए यात्रियों को कम से कम 14 दिन आइसोलेशन में रखा जाएगा। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोनावायरस को महामारी घोषित कर दिया है।

कोरोनावायरस प्रभावित देशों से 948 यात्रियों को निकाला
भारत सरकार ने कहा है कि अब तक कोरोनावायरस प्रभावित देशों से 948 यात्रियों को निकाला गया है। इनमें से 900 भारतीय हैं, जबकि 48 दूसरे देशों के नागरिक हैं। इन देशों में मालदीव, म्यांमार, बांग्लादेश, चीन, अमेरिका, मैडागास्कर, श्रीलंका, नेपाल, दक्षिण अफ्रीका और पेरू शामिल हैं।

एयर इंडिया के विमान से इटली से 83 नागरिक लौटे

एयर इंडिया का विमान बुधवार को 83 नागरिकों को लेकर इटली के मिलान से नई दिल्ली पहुंचा। सभी यात्रियों को हरियाणा में मानेसर के सैन्य कैंप में निगरानी में रखा गया है। इनमें भारत के 74, इटली के 6 और अमेरिका के तीन नागरिक हैं।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *