गैंगस्टर को टिकट देने पर सपा के खिलाफ PIL दाखिल, मान्‍यता रद्द करने की मांग

जेल में बंद गैंगस्टर नाहिद हसन को कैराना से उम्मीदवार बनाकर समाजवादी पार्टी मुश्किल में घिर गई है। भाजपा नेता और एडवोकेट अश्विनी उपाध्याय ने सुप्रीम कोर्ट में PIL दाखिल कर मांग की है कि सपा की मान्यता रद्द करने का निर्देश दिया जाए।
याचिका में कहा गया है कि समाजवादी पार्टी ने कैराना में एक गैंगस्टर को टिकट देकर सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देश का उल्लघंन किया है इसलिए उसकी मान्यता खत्म की जाए।
याचिका में कहा गया है कि सपा ने उम्मीदवार का आपराधिक रेकॉर्ड अपने ट्विटर अकाउंट और वेबसाइट पर जारी नहीं किया। मीडिया, सोशल मीडिया पर भी कोई जानकारी नहीं दी गई। कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट चुनाव आयोग को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दे कि सभी राजनीतिक पार्टियां हर उम्मीदवार के क्रिमिनल केस से संबंधित जानकारी और उन्हें टिकट देने की वजह अपने आधिकारिक वेबसाइट पर होम पेज पर प्रकाशित करें।
नाहिद का टिकट कटा, बहन को मिला
यूपी पुलिस के गिरफ्तार करने के बाद सपा ने नाहिद हसन का टिकट काट दिया। उनकी जगह बहन को टिकट दिया गया है। हालांकि भाजपा इस पर हमलावर हो गई। खुद सीएम योगी आदित्यनाथ ने हमला बोलते हुए कहा कि सपा की पहली लिस्ट से ही उसके इरादे साफ हो जाते हैं कि वह पश्चिमी यूपी को गुंडाराज में झोंकने की तैयारी में है।
एक दिन पहले केंद्रीय मंत्री और उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के सह विधानसभा चुनाव प्रभारी अनुराग ठाकुर ने सपा पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि ‘सपा का प्रत्याशी नंबर एक- विधायक नाहिद हसन (सपा के कैराना से उम्मीदवार) जेल में बंद है और उसका दूसरा विधायक अब्दुल्ला आजम जमानत पर है। सपा की सूची देखेंगे तो शुरुआत जेल वाले से होती है और अंत ‘बेल’ वाले पर होगा।’ उन्होंने कहा कि यह ‘जेल-बेल’ का खेल समाजवादी पार्टी का असली खेल है।
यूपी में 10 फरवरी से वोटिंग शुरू हो जाएगी। कुल सात चरणों में वोट पड़ेंगे। आखिरी वोटिंग सात मार्च को होगी। इस ‘चुनाव मंथन’ का अमृत ठीक एक महीने बाद यानी 10 मार्च को निकलेगा। इस दिन यूपी समेत सभी पांच राज्यों (उत्तराखंड, पंजाब, गोवा, मणिपुर भी) के नतीजे आएंगे। चुनाव में आपके काम के कुछ लिंक्स हम नीचे दे रहे हैं। इनमें आपको अपने इलाके में वोटिंग की तारीख, चुनाव का शेड्यूल समेत सभी जानकारियां मिल जाएंगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *