पेंटागन ने कहा: पाकिस्तान और चीन से निपटने की पूरी तैयारी, जून में बॉर्डर पर रूस निर्मित S-400 मिसाइल तैनात कर देगा भारत

पाकिस्तान और चीन के बीच तनाव और बढ़ते हमलों को देखते हुए भारत ने बॉर्डर पर S-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम तैनात करने का फैसला किया है। अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन ने कहा कि जून 2022 तक भारत अपने बॉर्डर पर रूस निर्मित S-400 मिसाइल तैनात कर देगा।
सैन्य आधुनिकीकरण में जुटा भारत
रक्षा खुफिया एजेंसी के डायरेक्टर लेफ्टिनेंट जनरल स्कॉट बेरियर ने एक बैठक में कहा, भारत को पिछले वर्ष दिसंबर से रूस से एस-400 मिसाइल प्रणाली मिलने लगी है। भारत मिलिट्री मॉडर्नाइजेशन में जुटा है जिसमें वायुसेना, थलसेना और नौसेना समेत स्ट्रैटेजिक न्यूक्लियर फोर्स शामिल हैं। अक्टूबर 2021 तक भारत की सेना अपनी जमीनी और समुद्री सीमाओं की रक्षा के लिए एडवांस सर्विलांस सिस्टम को खरीदने के बारे में विचार कर रही थी। साथ ही साइबर क्षमताओं को बढ़ाने के बारे में विचार कर रही थी।
मिसाइल टेस्टिंग में भी आगे भारत
जनरल बेरियर ने कहा, दिसंबर में भारत को रूसी S-400 मिसाइल सिस्टम की पहली खेप मिली थी। जिसे पाकिस्तानी और चीनी खतरे को देखते हुए भारत जून 2022 तक तैनात करने की योजना बना रहा है। भारत ने साल 2021 में कई मिसाइल टेस्ट करके अपनी हाइपरसोनिक, बैलिस्टिक, क्रूज और एयर डिफेंस मिसाइल कैपेबिलिटी को बढ़ाना जारी रखा। अंतरिक्ष में भी भारत के सैटेलाइट की संख्या बढ़ रही है और वह अंतरिक्ष में अपना प्रभाव बढ़ा रहा है।
भारत-रूस के रक्षा संबंध अब भी मजबूत
जनरल स्कॉट बेरियर ने कहा- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 के बाद से भारत की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए डोमेस्टिक डिफेंस इंडस्ट्री पर फोकस किया। विदेशी कंपनियों से रक्षा खरीद कम करने को प्राथमिकता दी है। भारत के रूस के साथ रक्षा संबंध काफी मजबूत हैं। यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद भी भारत ने तटस्थ रुख अपनाया है। लगातार शांति बनाए रखने की मांग भी की है। भारत और रूस के बीच S-400 की 5 यूनिट के लिए 2018 में करीब 40 हजार करोड़ रुपए की डील हुई थी।
भारत-पाक और भारत-चीन सीमा पर जारी है तनाव
बेरियर ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के सैनिकों के बीच झड़पें होती रहती हैं। लेकिन पाकिस्तान के आतंकियों के भारत में किसी बड़े आतंकवादी घटना को अंजाम देने की सूरत में भारत बड़ी सैन्य कार्रवाई कर सकता है। वहीं, भारत और चीन के बीच संबंध LAC पर 2020 में हुई हिंसक झड़प के बाद से तनावपूर्ण बने हुए हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *