पाकिस्‍तानी अखबार ‘द नेशन’ ने इमरान पर पहले कार्टून छापा, फिर माफी मांगी

इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तानी अखबार ‘द नेशन’ ने एक कार्टून प्रकाशित किया है। इसमें इमरान को एक घोड़ा गाड़ी में जुते घोड़े के तौर पर दर्शाया गया है। इस कार्टून में अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप बतौर सारथी की भूमिका में इमरान खान को हांकते हुए नजर आ रहे हैं।
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शान से बग्‍घी पर सवार हैं और उनके कंधों पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप का दोस्‍ताना हाथ नजर आ रहा है।

Pakistani Cartoonist Fired Over PM Caricature
Pakistani Cartoonist Fired Over PM Caricature

मीडिया रिपोर्टों की मानें तो इस कार्टून पर जब पाकिस्‍तानी हुक्‍मरानों की नजर पड़ी तो उन्‍होंने अखबार पर कथित तौर पर दबाव बनाया जिसके बाद ‘द नेशन’ को माफी मांगनी पड़ी है।

दरअसल, इमरान खान कश्‍मीर के मसले पर दुनियाभर में समर्थन जुटाने की कोशिश कर रहे थे लेकिन हर मोर्चे पर उन्‍हें असफलता ही हाथ लगी।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को UNGA के 74वें सत्र को संबोधित करते हुए दुनिया को इस्लामोफोबिया से ग्रसित बताया।
एक तरफ जहां पीएम नरेंद्र मोदी ने विश्व शांति, जलवायु परिवर्तन और आतंकवाद जैसे अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर बात की, वहीं इमरान खान ने धमकी भरे लहजे में कहा कि वह भारत के खिलाफ परमाणु हथियार का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे पहले कि परमाणु युद्ध हो संयुक्‍त राष्‍ट्र की जिम्मेदारी है कि वह इसे टालने के लिए पहल करे।
बता दें कि हर सदस्‍य देश के नेता को अपनी बात रखने के लिए लगभग 15 मिनट का समय दिया दिया जाता है। एक ओर PM Modi ने 17 मिनट में अपनी बात पूरी कर ली वहीं इमरान सायरन बजने के बाद भी बोलते रहे। विश्‍व मंच पर इस रवैये और जम्‍मू-कश्‍मीर के मुद्दे पर मिली असफलता को लेकर अब इमरान अपने मुल्‍क में ही घिर गए हैं। पाकिस्‍तानी मीडिया में उनकी जमकर किरकिरी हो रही है।
बयानबहादुर मंत्रियों को लेकर भी घिरे
पाकिस्‍तान में इन दिनों सरकार के मंत्रियों का बड़बोलापन पर भी खूब चटखारे लिए जा रहे हैं। लोग इमरान खान और उनके बयानबहादुर मंत्रियों की जमकर खिल्‍ली उड़ा रहे हैं। यही नहीं पाकिस्‍तानी मीडिया में भी इमरान खान सरकार की जमकर आलोचना हो रही है।
पाकिस्‍तानी अखबार ‘द फ्राइडे टाइम्‍स’ ने एक कार्टून प्रकाशित किया है। इस कार्टून के जरिए यह दिखाने की कोशिश की गई है कि इमरान खान और उनके मंत्रिमंडल में भारी कम्‍युनिकेशन गैप है। एक ही मुद्दे पर पाकिस्‍तान के मंत्री और प्रवक्‍ता अलग अलग बयान दे रहे हैं।
मुस्लिम मुल्‍कों को न साध पाने पर उड़ रही खिल्‍ली
पाकिस्‍तानी अखबार डॉन ने एक मजाकिया कार्टून छापा है। इसमें दिखाया गया है कि कश्‍मीर मसले पर इमरान खान के साथ दुनिया के मुस्लिम मुल्‍क भी नहीं आना चाहते हैं। इससे पहले एक रिपोर्ट आई थी जिसमें मुस्लिम मुल्‍कों ने इमरान खान को साफ शब्‍दों में कह दिया था कि वह भारत के साथ रिश्‍तों को सुधारने की दिशा में काम करें।
पाकिस्‍तानी अखबार ‘द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून’ में छपी रिपोर्ट के मुताबिक मुस्लिम मुल्‍कों ने पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को भी यह नसीहत दी थी कि वह भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ तल्‍ख बयानबाजियों से बाज आएं और बातचीत के टोन को नीचे रखें ताकि दोनों देशों के बीच कश्‍मीर मसले को लेकर उपजे तनाव को कम किया जा सके।
अमेरिका ने भी छोड़ा हाथ
पाकिस्‍तान के ही अखबार ‘द न्‍यूज़’ ने एक कार्टून में दिखाया है कि पाकिस्‍तान का पुराने मित्र अमेरिका ने भी उससे मुंह मोड़ने शुरू कर दिए हैं। अखबार ने एक ही तस्‍वीर में दो दृश्‍य उकेरे हैं, एक में भारत और अमेरिका के गर्मजोशी भरे मित्रता के हाथों को दिखाया गया है तो दूसरी ओर पाकिस्‍तान से दूर होते अमेरिकी हाथ को चित्रित किया गया है।
हाउडी मोदी कार्यक्रम के बाद अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप का भारत के प्रति नजरिये में आमूलचूल बदलाव आया है। आतंकवाद के मसले पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने साफ कर दिया है कि भारत इससे निपटने में पूरी तरह सक्षम है। एक अन्‍य रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका ने पाकिस्‍तान से दो टूक कह दिया है कि वह भारत के खिलाफ जहर उगलने की बजाए अपने यहां आतंकियों पर ठोस और निर्णायक कार्यवाही करे।
पीएम मोदी को भारी पड़ता दिखाया
इसमें कोई दो राय नहीं कि पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री को इस विदेश दौरे से कुछ भी हासिल नहीं हुआ है। अमेरिका में पीएम मोदी का जिस तरह भव्‍यता से स्‍वागत हुआ उससे साफ है कि इमरान अब ट्रंप के चहेते नहीं रहे। पाकिस्‍तानी अखबार ‘द न्‍यूज’ ने एक कार्टून में प्रधानमंत्री मोदी और इमरान खान को सी-सॉ खेलते दिखाया गया है। इसमें अखबार ने साफ दिखाया है कि अंतर्राष्‍ट्रीय राजनीति में पीएम मोदी का पलड़ा भारी है। यही नहीं इस कार्टून में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी पीएम मोदी की तरफ ही खड़े नजर आ रहे हैं। कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि अमेरिका ने इमरान को जो झटका दिया है उससे वह हवा में झूलते नजर आ रहे हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *