पाकिस्तानी साजिश नाकाम, 3 आतंकी मारे लेकिन एक कैप्टन समेत चार जवान शहीद

श्रीनगर। भारतीय सेना के जांबाजों ने एक बार फिर से पाकिस्तानी साजिश को नाकाम कर दिया है। सेना ने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा से लगे माछिल सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करते हुए तीन आतंकवादियों को मार गिराया। हालांकि, इस ऑपरेशन में आर्मी के एक कैप्टन समेत चार जवान शहीद हो गए।
रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा कि सेना के गश्ती दल ने घुसपैठ की कोशिश कर रहे आतंकवादियों को रोका, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। 7-8 नवंबर की रात करीब एक बजे नियंत्रण रेखा पर माछिल सेक्टर (उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में) के निकट गश्ती दल ने कुछ अज्ञात लोगों को संदिग्ध गतिविधियां करते देखा।
तलाशी अभियान जारी
कर्नल कालिया ने कहा कि गोलीबारी में तीन आतंकवादी मारा गया। इसी दौरान देश के लिए कॉन्स्टेबल सुदीप सरकार ने अपनी जान दे दी। बाद में ऑपरेशन के दौरान एक कैप्टन समेत दो और जवान शहीद हो गए। इस तरह सेना ने इस ऑपरेशन में अपने चार जवान खो दिए। मुठभेड़ स्थल से एक AK राइफल और दो थैले बरामद हुए हैं। फिलहाल तलाशी अभियान जारी है।
पाकिस्तानी सेना ने कठुआ में की गोलीबारी
इधर, पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू-कश्मीर में सीमा से लगे कठुआ जिले में अग्रिम चौकियों और गांवों को निशाना बनाकर गोलीबारी की। अधिकारियों ने कहा कि शनिवार रात करीब 9.05 बजे हीरानगर सेक्टर की करोल कृष्णा, मनयारी और सतपाल सीमा चौकियों पर गोलीबारी शुरू हुई, जो तड़के 5.05 मिनट तक जारी रही।
सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने इसका माकूल जवाब दिया। भारतीय पक्ष को किसी तरह का नुकसान होने की खबर नहीं मिली है। सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों ने कहा कि पाकिस्तानी सैनिक रात में आम निवासियों के इलाकों को निशाना बना रहे हैं। मनयारी के निवासी श्याम लाल ने कहा, ‘हम डर के साए में जी रहे हैं और हमें भूमिगत बंकरों में रात गुजारनी पड़ रही है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *