बाबरी विध्वंस की बरसी पर ओवैसी ने कहा, इस नाइंसाफी को कभी नहीं भूलने देंगे

हैदराबाद। ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने 6 दिसंबर को बाबरी विध्वंस की बरसी पर बाबरी मस्जिद को याद किया है। उन्होंने कहा कि 400 सालों तक बाबरी अयोध्या में खड़ी थी, इसे आने वाली पीढ़ियों को याद दिलाने और सिखाने की जरूरत है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस नाइंसाफी को कभी नहीं भुलाया जा सकता है।
हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने कहा, ‘आने वाली पीढ़ियों को याद दिलाएं और उन्हें सिखाएं कि 400 से अधिक सालों तक अयोध्या में बाबरी मस्जिद खड़ी थी। इस मस्जिद के हॉल में हमारे पूर्वज इबादत करते थे। वे इसके आंगन में रोजा तोड़ते थे। और जब उनकी मौत हो जाती थी तो पास के ही कब्रिस्तान में उन्हें दफनाया जाता था।’
ओवैसी ने कहा, ’22-23 दिसंबर 1949 की रात को हमारी बाबरी मस्जिद को अपवित्र किया गया और 42 सालों तक अवैध रूप से कब्जे में रखा गया। आज ही के दिन 1992 में पूरी दुनिया के सामने हमारी मस्जिद को ध्वस्त कर दिया गया। इसके लिए जिम्मेदार लोगों को एक दिन की भी सजा नहीं हुई। इस नाइंसाफी को कभी मत भूलिए।’
इसके साथ ही ओवैसी ने अपना एक पुराना वीडियो भी शेयर किया। वीडियो में वह बाबरी मस्जिद को लेकर भाषण देते हुए कह रहे हैं, ‘हमारी लड़ाई जमीन की नहीं बल्कि कानूनी अधिकार की थी। हमको भीख में कोई चीज नहीं चाहिए। हमारा जो हक है, हमें दे दो।’ गौरतलब है कि 28 साल पहले 6 दिसंबर 1992 के दिन ही कारसेवकों ने बाबरी मस्जिद को ढहा दिया था।
अब इस विवाद का निपटारा हो गया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। इसके साथ ही सभी आरोपियों को भी बाइज्जत बरी किया जा चुका है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *