आदेश: सार्वजनिक स्थानों पर कोई भी धार्मिक अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम न किया जाए

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 की जांच में वृद्धि की कार्यवाही को निरंतर जारी रखने का निर्देश देते हुये कहा कि प्रदेश में 75 से 80 हजार रैपिड एन्टीजन जांच तथा 40 से 45 हजार आरटीपीसीआर जांच प्रतिदिन किए जाएं.
मुख्यमंत्री मंगलवार को यहां एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड-19 से संबंधित पोर्टल को प्रतिदिन निरंतर अपडेट किया जाए. उन्होंने कोविड-19 के दृष्टिगत राज्य विधानमंडल के आगामी सत्र के दौरान विशेष सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं. योगी ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण की श्रंखला को तोड़ने के लिए प्रत्येक स्तर पर सावधानी बरतना जरूरी है. कोरोना के संक्रमण के दृष्टिगत धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन घर में ही किया जाए. सार्वजनिक स्थानों पर कोई भी धार्मिक अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाए.
सीएम योगी ने कहा कि बरेली,गोरखपुर, प्रयागराज तथा बस्ती जिलों पर विशेष ध्यान दिया जाए. जनपद लखनऊ तथा कानपुर नगर में कोविड-19 के मामलों को नियंत्रित करने तथा चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं. मुख्यमंत्री ने कहा कि एम्बुलेंस संचालन की कार्यवाही को और प्रभावी बनाया जाए तथा सभी जनपदों में एम्बुलेंस सेवाओं के 50 प्रतिशत वाहन कोविड-19 संक्रमितों के लिए उपयोग किए जाएं.
प्रदेश के सभी जनपदों में कोविड-19 से संक्रमित व्यक्तियों के उपचार के लिए आवश्यकतानुसार आईसीयू बिस्तरों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए. उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन कराते हुए औद्योगिक गतिविधियों का संचालन पूरी क्षमता से कराया जाए. इस कार्य में कोई कठिनाई न आने पाए.
उन्होंने कहा कि प्रदेश में उवर्रक की कोई दिक्कत नहीं है. किसानों को सुगमतापूर्वक खाद उपलब्ध हो, इसके लिए सभी जरूरी प्रबन्ध सुनिश्चित किए जाएं. उन्होंने कहा कि निर्माणाधीन सिंचाई परियोजनाओं तथा स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता हेतु ‘हर घर जल’ योजना के कार्यों को तेज किया जाए.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *