ONGC ने कोयला सीम गैस के लिए न्यूनतम 17 डॉलर की कीमत मांगी

सार्वजनिक क्षेत्र की ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन ONGC ने झारखंड के बोकारो स्थित अपने सीबीएम ब्लॉक में कोयला सीम से निकलने वाली गैस के लिए न्यूनतम 17 डॉलर की कीमत मांगी है।
एक निविदा दस्तावेज के अनुसार ओएनजीसी ने बोकारो सीबीएम ब्लॉक से प्रतिदिन दो लाख घन मीटर गैस की बिक्री के लिए बोलियां आमंत्रित की हैं। इस कोयला ब्लॉक से वर्ष 2022 के अंत तक गैस उत्पादन शुरू करने की योजना है। ई-नीलामी 20 जुलाई को होगी।
इसने मौजूदा ब्रेंट कच्चे तेल की कीमत के लिए निर्धारित एक फॉर्मूला के आधार पर बोलियां आमंत्रित की हैं। ओएनजीसी ने निविदा में कहा कि गैस का आरक्षित या न्यूनतम मूल्य दिनांकित ब्रेंट कच्चे तेल की कीमत का 14 प्रतिशत के अलावा एक डॉलर प्रति मिलियन ब्रिटिश थर्मल यूनिट होगा। बोलीकर्ताओं को एक प्रीमियम उद्धृत करना होगा जो वे इस आरक्षित मूल्य पर देने को तैयार हैं।
घरेलू प्राकृतिक गैस के लिए न्यूनतम मूल्य सरकार द्वारा अनिवार्य मूल्य और एक अमरीकी डालर प्रति यूनिट (एमएमबीटीयू) मार्क-अप (लाभ) होगा।
इस तरह कच्चे तेल के मौजूदा मूल्य 115 डॉलर प्रति बैरल के आधार पर आरक्षित गैस की कीमत 17 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू रहेगी। घरेलू गैस की सरकार द्वारा निर्धारित कीमत वर्तमान में 6.1 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू है।
ओएनजीसी द्वारा बोकारो सीबीएम से निकलने वाली गैस के लिए मांगी गई यह कीमत हाल के उद्योग रुझानों के अनुरूप है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने मध्य प्रदेश ब्लॉक से निकली गैस गेल, जीएसपीसी और शेल को गत मार्च में 23 अमरीकी डॉलर प्रति एमएमबीटीयू पर बेची थी।
सरकार हर छह महीने में पारंपरिक क्षेत्रों से उत्पादित प्राकृतिक गैस की कीमत तय करती है, वहीं कोयला सीम से निकलने वाली गैस (सीबीएम) की कीमत बाजार से निर्धारित होती है।
ओएनजीसी ने कहा कि बोकारो सीबीएम की गैस 15 दिसंबर से बिक्री के लिए उपलब्ध होगी। गैस की पेशकश एक साल की तय अवधि के लिए की जाएगी।
बोकारो सीबीएम ब्लॉक में ओएनजीसी की 80 प्रतिशत हिस्सेदारी है जबकि शेष 20 प्रतिशत हिस्सेदारी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के पास है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *