राजस्थान की सियासी जंग में अब उमर अब्दुल्ला की भी एंट्री, भूपेश बघेल पर बरसे

श्रीनगर। राजस्थान की सियासी जंग में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की एंट्री हो गई है. उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि इस मामले में उन्हें और उनके पिता फारूक अब्दुल्ला को बेवजह घसीटा जा रहा है.
उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा कि वे ऐसे झूठे और घटिया आरोप सुनकर तंग हो गए कि राजस्थान में सचिन पायलट जो कुछ भी कर रहे हैं उसका किसी तरह से फारूक अब्दुल्ला या उनकी रिहाई से लेना देना है. इस मामले में उन्होंने छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल को फटकार लगाई और कहा है कि अब बहुत हो गया है और उनके वकील जल्द ही भूपेश बघेल के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करेंगे.
भूपेश बघेल का आरोप
बता दें कि छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने अंग्रेजी वेबसाइट द हिन्दू से बात के दौरान कहा था कि वे राजस्थान के घटनाक्रम का बारीकी से अध्ययन नहीं कर रहे हैं लेकिन ये हैरानी की बात है कि उमर अब्दुल्ला को रिहा क्यों किया गया? भूपेश बघेल ने कहा कि उन्हें और महबूबा मुफ्ती एक ही धाराओं के तहत हिरासत में लिया गया था जबकि महबूबा मुफ्ती अभी भी जेल में हैं, उमर अब्दुल्ला बाहर आ गए हैं, क्या ऐसा इसलिए है क्योंकि उमर अब्दुल्ला और सचिन पायलट के बीच रिश्तेदारी है.
उमर की बहन का सचिन पायलट से हुआ है विवाह
बता दें कि राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट का विवाह उमर अब्दुल्ला की बहन सारा अब्दुल्ला से हुआ है.
उमर अब्दुल्ला ने अपने इस ट्वीट को छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल, राहुल गांधी और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला को टैग किया है और कहा है कि उनके वकील भूपेश बघेल को जल्द नोटिस भेज रहे हैं.
रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट से की गई थी हस्तक्षेप की मांग
जम्मू-कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस ने कहा है कि पार्टी ने भूपेश बघेल के बयान का संज्ञान लिया है. पार्टी राजनीति से प्रेरित ऐसे किसी भी बयान की सख्त निंदा करती है. पार्टी ने कहा है कि ये बयान न सिर्फ झूठ है बल्कि उमर अब्दुल्ला के सम्मान के खिलाफ भी है. पार्टी ने कहा है कि उमर अब्दुल्ला की रिहाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट से हस्तक्षेप की मांग की गई थी. इसके बाद डिटेंशन ऑर्डर को वापस लिया गया था. पार्टी ने कहा है कि इस बारे में वकीलों से सलाह ली जा रही है और उचित कार्यवाही की जाएगी.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *