बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर नकल माफियाओं के खिलाफ एनएसए की कार्यवाही होगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में होने वाली बोर्ड की परीक्षाओं के मद्देनजर सरकार ने मंगलवार को कहा कि नकल माफियाओं के खिलाफ एनएसए के तहत कार्यवाही की जाएगी। यूपी बोर्ड की परीक्षाएं सात फरवरी से शुरू होंगी और 16 दिन तक चलेंगी।
यूपी के डेप्युटी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा, ‘बिना नकल के परीक्षा कराना हमारा संकल्प है, नकल से बच्चों का भविष्य बर्बाद होता है, जिसे हम किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे। बोर्ड परीक्षाओं के दौरान नकल कराने वाले गिरोह के खिलाफ हम सख्त कार्यवाही करेंगे। जो भी लोग नकल कराने, उत्तर पुस्तिकाएं बदलने और प्रश्नपत्र लीक कराने में शामिल होंगे हम उनके खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई करने में भी नहीं हिचकेंगे।’
आपको बता दें कि शर्मा के पास माध्यमिक और उच्च शिक्षा विभाग भी है। उन्होंने कहा कि जो परीक्षा केंद्र पूर्व में नकल करवाने के लिए बदनाम हैं उनपर कड़ी नजर रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि नकल पर रोक लगाकर यूपी सरकार का मकसद शिक्षा के स्तर को सुधारना है। प्रदेश की योगी सरकार परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए अनेक उपाय कर रही है। डेप्युटी सीएम शर्मा ने कहा, ‘यूपी में बीजेपी के आने से पहले जो माहौल था उसके बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि यूपी में नकल के टेंडर होते हैं। बीजेपी के सत्ता में आने के बाद नकल पर रोक लगाने के लिए कई महत्तवपूर्ण कदम उठाए गए हैं।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *