कमलेश तिवारी हत्याकांड के दो आरोपियों पर NSA लगाया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पिछले साल हुए हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड के दो आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून NSA लगाया गया है। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने सोमवार को इस बहुचर्चित मामले के आरोपियों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही की है।
सूत्रों के अनुसार आसिम अली और युसूफ खान पर NSA लगाया गया है, जो इस केस के मास्टरमाइंड थे।
बता दें कि पिछले साल 18 अक्टूबर को लखनऊ के नाका इलाके में हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की दिनदहाड़े बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। खुर्शेदबाग निवासी हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी ने घर में ही पार्टी कार्यालय बना रखा था। 18 अक्टूबर की दोपहर भगवा कुर्ता पहन कर मिलने आए दो युवकों ने उनकी हत्या कर दी थी।
वारदात को अंजाम देने के बाद हत्यारे फरार हो गए। मौके से मिले सूरत स्थित मिठाई शॉप के डिब्बे और कॉल डीटेल के आधार पर यूपी पुलिस ने गुजरात एटीएस से संपर्क किया था। इसके बाद गुजरात एटीएस ने सूरत से हत्या की साजिश में शामिल कथित मास्टरमाइंड रशीद पठान समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। आरोपी नेपाल भागने की फिराक में भी थे।
13 लोगों के खिलाफ चार्जशीट
कमलेश हत्याकांड में 13 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई थी। इनमें शूटर अशफाक, मोइनुद्दीन, साजिशकर्ता शेख सलीम, राशिद पठान, फैजान, आसिम अली, मोहम्मद जाफर सादिक और मददगार नावेद, मौलाना मुफ्ती कैफी, कामरान, रईस, आसिफ और यूसुफ खान हैं। सूत्रों के मुताबिक आरोपियों को नेपाल में रुकवाने में तनवीर नाम के व्यक्ति ने अहम भूमिका निभाई थी।
इस मामले में हत्यारों की शिनाख्त शेख अशफाक हुसैन और पठान मोइनुद्दीन अहमद के रूप में हुई थी, जिन्होंने भगवा कुर्ता पहनकर कमलेश के ऑफिस में ही ताबड़तोड़ चाकुओं के वार से हत्या की थी। वहीं एनएसए आसिम अली और युसूफ खान पर लगाया गया है। आरोपी लखनऊ जेल में बंद हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *