इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत पर अब सियासत शुरू

लखनऊ। बुलंदशहर के स्याना गांव में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत पर अब सियासत भी शुरू हो गई है। एसपी, बीएसपी और कांग्रेस ने जहां इस घटना के लिए राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर सवाल खड़े किए हैं वहीं, सूबे के मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने इस हिंसा की टाइमिंग पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने पूछा कि यह घटना तब क्यों हुई जब शहर में मुसलमानों का इज्तमा चल रहा है?
बीएसपी चीफ मायावती ने साधा निशाना
बीएसपी चीफ मायावती ने आरोप लगाया कि राज्य में बीजेपी का जंगलराज चल रहा है। मायावती ने कहा, ‘बुलंदशहर की भीड़ हिंसा के दौरान अराजकता, आगजनी, तोड़फोड़ तथा कोतवाल समेत दो की मौत के लिए प्रदेश की बीजेपी सरकार की गलत नीतियां जिम्‍मेदार हैं।
बीजेपी द्वारा हर प्रकार का संरक्षण देने का ही परिणाम है कि उत्‍तर प्रदेश जैसे बड़े राज्‍य में बीजेपी का जंगलराज कायम है।’
उन्‍होंने इस हत्‍याकांड पर दुख जताया और मांग की कि दोषियों को सख्‍त से सख्‍त सजा दी जाए।’
अखिलेश ने कहा-राज्य अराजकता के दौर से गुजर रहा है
इससे पहले पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने भी योगी सरकार को आड़े हाथों लिया था। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा, ‘बुलंदशहर में पुलिस और ग्रामीणों के संघर्ष में स्याना के इंस्‍पेक्‍टर सुबोध कुमार सिंह की मौत का समाचार बेहद दुखद है। भावपूर्ण श्रद्धांजलि। उत्‍तर प्रदेश बीजेपी के शासनकाल में हिंसा और अराजकता के दुर्भाग्यपूर्ण दौर से गुजर रहा है।’
राजभर का योगी सरकार पर हल्ला बोल
योगी सरकार में मंत्री राजभर ने तो इस घटना के लिए विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल और आरएसएस को भी जिम्मेदार ठहराया है। राजभर ने कहा, ‘यह वीएचपी, बजरंग दल और आरएसएस की पूर्व नियोजित साजिश है। अब तो पुलिस भी कुछ बीजेपी नेताओं के नाम बता रही है। क्‍यों यह विरोध उस दिन हुआ जब मुस्लिमों का इज्‍तमा चल रहा था? यह बुलंदशहर की शांति को भंग करने की कोशिश है।’ उधर इस हत्‍याकांड पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।
आजम खान ने घटना पर उठाए सवाल
समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री आजम खान ने भी इस पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि अगर यह वास्तव में गोकशी का मामला है तो इस बात की जांच होनी चाहिए कि वहां गोश्त (मवेशियों के मांस के टुकड़े) लाया कौन था। आजम ने कहा कि इस इलाके में अल्पसंख्यक आबादी नहीं है।
कांग्रेस बोली, बेलगाम हिंसा बीजेपी सरकार की पहचान
कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाल ने ट्वीट कर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या को दुखदायी बताते हुए योगी सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ यूपी को अराजक तत्वों के हवाले कर चुनाव भ्रमण में व्यस्त हैं और कानून-व्यवस्था का दिवाला निकल गया है। उन्होंने कहा, ‘कानून का शासन नहीं, भीड़तंत्र की बेलगाम हिंसा अब बीजेपी सरकारों की असल पहचान है।’
बता दें कि यूपी के बुलंदशहर के स्‍याना गांव में गोहत्‍या के अफवाह में फैली हिंसा में स्‍याना कोतवाली के प्रभारी सुबोध कुमार सिंह शहीद सिर में गोली लगने से शहीद हो गए। इस हिंसा में अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 87 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में दर्ज पुलिस एफआईआर से खुलासा हुआ है कि भीड़ एक और अधिकारी की हत्‍या करना चाहती थी लेकिन उन्‍होंने खुद को कमरे में बंद कर लिया और बाद में उन्‍हें पुलिस ने निकाला।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *