अब कांग्रेस ने लगवाए लखनऊ में पोस्‍टर, बीजेपी के कई नेताओं को दंगाई बताया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पोस्टर वॉर थमने का नाम नहीं ले रहा है। पहले जहां प्रशासन ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में प्रदर्शन के दौरान कथित तौर हिंसा करने वाले ‘दंगाइयों’ के पोस्टर के जवाब में समाजवादी पार्टी के नेता ने चिन्मयानंद और कुलदीप सेंगर के पोस्टर लगवाए, वहीं कांग्रेस भी अब इस वॉर में कूद चुकी है। कांग्रेस नेताओं की ओर से लगवाए गए होर्डिंग में कई बीजेपी नेताओं को दंगाई कहकर संबोधित किया गया है। हालांकि इन होर्डिंगों को लेकर कांग्रेस जमकर ट्रोल हो रही है।
कांग्रेस के युवा नेता सुधांशु बाजपेयी व लल्लू कनौजिया की ओर से लगवाए गए पोस्टरों में सीएम योगी आदित्यनाथ व डिप्टी सीएम केशव मौर्य के अलावा राधामोहन दास अग्रवाल, संगीत सोम, संजीव बलियान, उमेश मलिक, सुरेश राणा और साध्वी प्राची का नाम और तस्वीरें लगी हैं लेकिन इन पोस्टरों में की गई एक गलती की वजह से कांग्रेस सोशल मीडिया पर ट्रोलर्स के निशाने पर आ गई है। इन पोस्टरों में राधा मोहन दास अग्रवाल की तस्वीर की जगह पूर्व केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह की तस्वीर लगाई गई है।
पोस्टरों पर इन बीजेपी नेताओं पर पूर्व में लगाई गईं गंभीर धाराओं के बारे में भी लिखा है। पोस्टरों में पूछा गया है कि इन ‘दंगाइयों’ से वसूली कब की जाएगी? शुक्रवार देर रात ये पोस्टर लखनऊ भर में लगाए गए। हालांकि इनकी जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन सक्रिय हुआ और इन्हें तुरंत हटा दिया गया।
दूसरी ओर कांग्रेस अपने डिजाइनर की इस गलती को भी सही बताने में जुट गई है। कांग्रेस नेता सुधांशु बाजपेई का कहना है कि डिजाइनर की यह गलती भी गलत नहीं है क्योंकि राधामोहन सिंह तो दंगाइयों से भी बड़े पाप के भागी हैं क्योंकि इनके सिर प्रतिवर्ष 10,349 किसान आत्महत्या का पाप है, उस पर भी यह घटिया बयान देते हैं कि किसान प्रेमप्रसंगों के चलते आत्महत्या करते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *