रिया और शौविक की रिहाई नहीं, 20 अक्‍टूबर तक बढ़ी न्‍यायिक हिरासत

मुंबई। रिया चक्रवर्ती और शौविक चक्रवर्ती को मंगलवार को भी रिहाई नसीब नहीं हुई है। दोनों की न्‍यायिक हिरासत अब 20 अक्‍टूबर तक बढ़ा दी गई है।
ड्रग्‍स केस में जेल में बंद रिया चक्रवर्ती और शौविक चक्रवर्ती को राहत नहीं मिली है। मंगलवार को दोनों की न्‍यायिक हिरासत अवध‍ि अब 20 अक्‍टूबर तक बढ़ा दी गई है। रिया और शौविक की ज्‍यूडिश‍ियल कस्‍टडी मंगलवार 6 अक्‍टूबर को खत्‍म हो रही थी। लेकिन इसे अब फिर से बढ़ा दिया गया है। रिया चक्रवर्ती को नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो ने 8 सितंबर को गिरफ्तार किया था, जिसके बाद उन्‍हें 9 सितंबर को मुंबई के भायखला जेल भेज दिया गया।
सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में ड्रग्स एंगल की जांच कर रही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने रिया चक्रवर्ती के साथ ही उनके भाई शौविक चक्रवर्ती और सुशांत के स्‍टाफ सैमुअल मिरांडा को भी गिरफ्तार किया है। रिया और शौविक को मंगलवार को वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट के सामने पेश किया गया।
NCB ने किया जमानत का विरोध, मानश‍िंदे ने रखे तर्क
एनसीबी ने मंगलवार को एक बार फिर कोर्ट में रिया और शौविक की जमानत का विरोध किया। एनसीबी ने आरोप लगाए कि शौविक चक्रवर्ती ने रिया चक्रवर्ती के निर्देश पर ही सुशांत सिंह राजपूत के लिए ड्रग्‍स खरीदे और ड्रग्‍स की व्‍यवस्‍था करने में मदद की। इसके लिए पैसे भी दिए। जवाब में रिया के वकील सतीश मानश‍िंदे ने कोर्ट से कहा कि रिया और शौविक के ख‍िलाफ गलत चार्जेज लगाए गए हैं। एनसीबी के पास इन आरोपों के कोई सबूत नहीं हैं। दोनों निर्दोष हैं। मानश‍िंदे ने कोर्ट से यह भी कहा कि एनसीबी जिस बयान का जिक्र कर रही है, वो दोनों ही मुवक्‍क‍िलों को भ्रमित कर के लिया गया है।
जमानत पर बुधवार को आ सकता है HC का फैसला
दूसरी ओर बॉम्बे हाई कोर्ट में रिया और शौविक समेत अन्‍य सह-आरोपियों ने जमानत याचिका दायर की है। हाई कोर्ट में ममाले की सुनवाई हो चुकी है। कोर्ट ने जमानत पर फैसला सुरक्ष‍ित रख लिया है। बुधवार को इस पर फैसला सुनाया जा सकता है। ऐसे में यदि रिया और शौविक को वहां से जमानत मिलती है तो दोनों जेल से र‍िहा हो जाएंगे। हाई कोर्ट में NCB ने अपने आवेदन में यह कहते हुए जमानत विरोध किया कि समाज में एक मजबूत संदेश भेजा जाना चाहिए, विशेष रूप से युवाओं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि काई ड्रग्स का सेवन नहीं करे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *