कपूरथला लिंचिंग केस में बेअदबी का कोई सबूत नहीं: सीएम चन्नी

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा है कि कपूरथला में भीड़ के एक शख़्स की पीट-पीटकर हत्या करने के मामले में बेअदबी का कोई सबूत नहीं मिला है.
मुख्यमंत्री ने कहा, “कपूरथला मामले में बेअदबी के कोई सबूत नहीं मिले हैं. मामले की जाँच की जा रही है और एफ़आईआर में बदलाव किया जाएगा.”
कपूरथला के निजामपुर गाँव के गुरुद्वारा साहिब में 19 दिसंबर (रविवार) की सुबह बेअदबी करने के आरोप में एक शख़्स की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी.
गुरुद्वारे के ग्रंथी अमरजीत सिंह ने एक वीडियो पोस्ट करके दावा किया था कि उन्होंने गुरद्वारा साहिब में बेअदबी के इरादे से आए एक व्यक्ति को पकड़ा है.
उस शख़्स की बाद में भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी. हालाँकि, पुलिस का उस समय ये भी कहना था कि ये मामला चोरी का हो सकता है.
कपूरथला की घटना से एक दिन पहले ही 18 दिसंबर को अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में बेअदबी का मामला सामने आया था. इसमें भी भीड़ ने बेअदबी करने वाले शख़्स को पीट-पीटकर मार दिया था.
दोनों ही मामलों में मरने वाले शख़्सों की पहचान नहीं हो पाई है.
कपूरथला मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी सामने आई है. वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नरिंदर सिंह ने गुरुवार को बताया कि मृतक पर धारदार हथियार से हमला किया गया था.
उन्होंने बताया, “पोस्टमार्टम में पता चला है कि शख़्स के ऊपर धारदार हथियार से कई वार किए गए थे. उसकी गर्दन, सिर और नितंब में कटने के 30 निशान थे. उसके सीने में भी कोई धारदार हथियार मारा गया था. शव की पहचान के लिए डीएनए सैंपल लिए गए हैं.”
मृतक की पहचान को लेकर डीएसपी-उपविभाग सुरिंदर सिंह ने बताया कि शव को 72 घंटों तक रखने और विज्ञापन देने के बावजूद भी उसकी पहचान नहीं हो पाई है. आधार डाटाबेस से भी उसके अंगुलियों के निशानों का मेल नहीं हुआ है.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *