NHAI का फैसला, Fastag में अब मिनिमम बैलेंस रखना जरूरी नहीं

नई दिल्‍ली। यदि आप नेशनल हाईवे पर ट्रेवल करते हैं तो फास्टैग Fastag तो अपनी कार में लगवाया ही होगा। यदि आपने फास्टैग लगवाया है तो यह खबर आपके लिए महत्वपूर्ण है। कार वाले इसका बेहतर उपयोग कर सके, इसके लिए एनएचएआई NHAI ने फैसला लिया है अब फास्टैग में मिनिमम बैलेंस नहीं रखना होगा। हालांकि यह सुविधा सिर्फ कार, जीप या वैन के लिए ही है, कॉमर्शियल व्हीकल के लिए नहीं।
बैंक नहीं कर सकते अनिवार्य
भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से मिली जानकारी के अनुसार अब फास्टैग को जारी करने वाले बैंक सिक्योरिटी डिपॉजिट के अलावा कोई मिनिमम बैलेंस रखना अनिवार्य नहीं कर सकते। पहले विभिन्न बैंक फास्टैग में सिक्योरिटी डिपोजिट के अलावा मिनिमम बैलेंस रखने के लिए भी कह रहे थे। कोई बैंक 150 रुपये तो कोई बैंक 200 रुपये का मिनिमम बैलेंस रखने को कह रहे थे। मिनिमम बैलेंस होने की वजह से कई FASTag उपयोगकर्ताओं को अपने FASTag खाते/बटुए में पर्याप्त शेष होने राशि के बावजूद एक टोल प्लाजा से गुजरने की अनुमति नहीं मिलती थी। इसके परिणामस्वरूप टोल प्लाजा पर गैर जरूरी नोक—झोंक होती थी।
बैलेंस निगेटिव नहीं है तो गुजरेगी कार
एनएचएअई ने अब फैसला किया है कि यूजर को अब टोल प्लाजा से गुजरने की तब तक अनुमति दी जाएगी, जब तक कि FASTag खाते/वॉलेट में निगेटिव बैलेंस नहीं है। यदि फास्टैग अकाउंट में कम पैसे हैं तो भी कार को टोल प्लाजा पार करने की अनुमति होगी। भले ही टोल प्लाजा पार करने के बाद फास्टैग अकाउंट निगेटिव क्यों नहीं हो जाए। यदि ग्राहक उसे रिचार्ज नहीं करता है तो निगेटिव अकाउंट की रकम बैंक सिक्योरिटी डिपॉजिट से वसूल कर सकता है।
इस समय 2.54 करोड़ फास्टैग
इस समय देश भर में 2.54 करोड़ से अधिक फास्टैग के यूजर हैं। इस समय एनएच पर FASTag कुल टोल संग्रह का 80 फीसदी योगदान देता है। इस समय FASTag के माध्यम से दैनिक टोल संग्रह 89 करोड़ रुपये को पार कर गया है। उल्लेखनीय है कि
15 फरवरी 2021 से फास्टैग के माध्यम से टोल प्लाजा पर भुगतान अनिवार्य हो जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण देश भर में टोल प्लाजा पर 100% कैशलेस टोल प्राप्त करने का लक्ष्य बना रहा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *