हथिनी की मौत पर NGT ने समिति बनाई, कार्यवाही पर मांगी रिपोर्ट

नई द‍िल्ली। NGT ने भी केरल के साइलेंट वैली जंगल में गर्भवती हथिनी की मौत के मामले का संज्ञान लिया है। एनजीटी ने इस मामले में एक समिति गठित की है और उसको मामले में कार्यवाही संबंधी रिपोर्ट जमा करने का निर्देश जारी किया है। मालूम हो कि कथित तौर पर स्थानीय लोगों द्वारा पटाखों से भरे अनानास को खिलाने के कारण हुए विस्‍फोट के चलते हथिनी घायल हो गई थी। बाद में 27 मई को वेलियार नदी में उसने दम तोड़ दिया था।

हथ‍िनी की मौत के बाद हुई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पता चला था कि वह गर्भवती थी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में यह भी पाया गया था कि अनानास खाने के बाद मुंह में विस्फोट होने से हथिनी का जबड़ा टूट गया था जिससे वह कुछ खा नहीं पा रही थी। एनजीटी ने कहा कि इस घटना को लेकर पूरे देश के लोग गुस्‍से में हैं। यह खबर सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गई है। एनजीटी ने कहा कि जंगलों में वन्य जीवों के संरक्षण के नियमों का पालन नहीं होने के चलते उनका इंसानों से संघर्ष बढ़ गया है।

एनजीटी ने कहा कि वन्य जीव संरक्षण नियमों का अनुपालन नहीं होने के कारण ही पशुओं की जान खतरे में आने की घटनाएं हो रही हैं। पीठ ने अपने आदेश में कहा कि वास्तविक स्थिति का पता लगाने और वन्यजीवों के संरक्षण के लिए एक संयुक्त समिति का गठन जरूरी है। यह कदम भविष्य में मानव-पशु संघर्ष को कम करने के लिए उठाए जाने वाले कदमों का पता लगाने के लिए उचित होगा। एनजीटी ने कहा कि समिति मामले की जांच करेगी और कार्रवाई के बारे में रिपोर्ट पेश करेगी। एनजीटी की मानें तो भविष्‍य में ऐसी घटनाएं नहीं हों इसके लिए दीर्घकालिक प्रबंधन योजना भी सुझाएगी।
-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *