एंटीलिया केस में नया ट्विस्‍ट: मुंब्रा के रेती बंदर में मिली एक और लाश, यहीं मिला था स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन का शव

मुंबई। मुंबई में मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटकों से लदी कार मिलने का केस उलझता चला जा रहा है। शनिवार को इस मामले में नया ट्विस्ट आया है। मुंब्रा के रेती बंदर में जहां स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन का शव मिला था, अब उसी जगह पर एक और लाश बरामद हुई है।
महाराष्ट्र पुलिस के अधिकारी ने बताया कि शव की शिनाख्त कर ली गई है। यह लाश 48 साल के शेख सलीम अब्दुल की है, जो मुंब्रा के रेती बंदर का ही निवासी था। एंटीलिया के बाहर विस्फोटक से लदी कार और फिर मनसुख की मौत के सिलसिले में पुलिस अधिकारी को गिरफ्तार किया गया है, जिससे एनआईए पूछताछ कर रही है।
मनसुख हीरेन की स्कॉर्पियो में विस्फोटक भरकर उसे देश के प्रसिद्ध उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास खड़ा किया गया था। इस मामले के कुछ दिन बाद उनकी लाश मुंबई से सटे मुंब्रा इलाके की खाड़ी में पाई गई थी। इस मामले में उनकी पत्नी ने सचिन वझे पर हत्या का आरोप लगाया था।
ग्रांट गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज द्वारा की गई डाएटम्स जांच की रिपोर्ट एटीएस को मिली है। जिसमें इस बात की तरफ इशारा किया गया है कि पानी में फेंके जाने के पहले तक मनसुख हिरेन जिंदा थे। सायन अस्पताल के फॉरेंसिक मेडिसिन के प्रोफेसर डॉक्टर राजेश डेरे के मुताबिक इस टेस्ट रिपोर्ट को पुख्ता सबूत के तौर पर नहीं देखा जा सकता है। इसके जरिये कड़ियाँ जोड़ी जा सकती हैं।
सचिन वझे की 5 लग्जरी गाड़ियों का मालिक कौन?
मनसुख मर्डर मिस्ट्री से जुड़े जिलेटिन बरामदगी कांड से अब तक पर्दा नहीं उठ सका है। अब नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी यानी NIA फॉरेंसिक टीम की मदद से सभी सबूतों की बारीकी से जांच करवाने में जुट गई है।
सूत्रों के अनुसार जिलेटिन के बाद अब मनसुख मर्डर केस की NIA भी जांच कर सकती है इसीलिए NIA भी सबूतों को जुटाने में जुटी हुई है। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हुई है लेकिन पता चला है कि ATS केस ट्रांसफर फाइल तैयार कर रही है। शुक्रवार को मुंबई पुलिस के नए पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले से NIA की टीम मिली थी।
पुणे से पहुंची फॉरेंसिक टीम
इस बीच पुलिस अधिकारी सचिन वझे कई राज उगल चुके हैं, जिसके आधार पर NIA ने तमाम ठिकानों से सबूत भी जमा किए। इन्हीं सबूतों में वझे की 5 लग्जरी गाड़ियां भी हैं, जिनकी जांच पुणे से मुंबई NIA ऑफिस पहुंची 6 सदस्यीय फॉरेंसिक टीम कर रही है। जिलेटिन विस्फोटक से भरी स्कॉर्पियो की जांच की जिम्मेदारी भी इसी टीम को सौंप दी गई है। इसके अलावा यह फॉरेंसिक टीम मुलुंड से मिले वझे के जले हुए कुर्ते, उसके पुलिस मुख्यालय से मिले इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों, ठाणे के साकेत आवास परिसर से मिले दस्तावेज एवं लग्जरी कारों से मिले नकद राशि समेत अन्य चीजों की जांच कर टेक्निकल एविडेंस जमा कर रही है। NIA की टीम वझे के पांचों लग्जरी वाहनों के मालिकों को तलाश रही है। इन वाहनों में एक स्कॉर्पियो, एक इनोवा, दो मर्सिडीज और एक टोयोटा लैंड क्रूजर प्राडो है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *