नए आतंकी संगठन ने ली कुलगाम में पुलिसकर्मी की हत्या की जिम्मेदारी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के एक नए संगठन की जानकारी सामने आई है। ‘एंटी फासिस्ट पीपल्स फ्रंट’ नाम के इस आतंकी संगठन ने वीडियो जारी करते हुए कुलगाम में पिछले सप्ताह पुलिसकर्मी की हत्या की जिम्मेदारी ली है।
इस नए संगठन के वीडियों में एक आतंकी बीच में कुर्सी पर बैठा हुआ जबकि उसके पीछे दो आतंकी हाथों में अत्याधुनिक राइफल लिए खड़े नजर आ रहे हैं। इस संगठन ने पुलिसकर्मी की हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए आगे इस तरह के और भी हमलों की धमकी दी है।
इन आतंकवादियों के हाथों में अमेरिकन मेड M-4 राइफल हैं, जिसे आमतौर पर जैश-ए-मोहम्मद के कमांडर के पास ही पाया गया है। सिक्योरिटी एजेंसी का कहना है कि यह जैश से जुड़ा हुआ ही संगठन हो सकता है, जिसका मकसद युवाओं की नई रिक्रूटमेंट करना है। जानकारों का कहना है कि अब आतंकी इस्लामिक नामों की बजाय रेज़िस्टेंस, फासिस्ट जैसे शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं।
कुलगाम नें पुलिसकर्मी अब्दुल रशीद डार पुत्र गुलाम हसन डार निवासी फुरा मीर बाजार रात को घर के बाहर निकला था। इस दौरान घात लगाकर बैठे आतंकियों ने उस पर फायरिंग कर दी। उसे दो गोलियां मारी गई। इसमें एक गोली सीने और दूसरी पेट में लगी। फायरिंग करने के बाद आतंकी मौके से भाग गए। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर आई। पुलिस ने उसे इलाज के लिए अस्पताल में पहुंचाया लेकिन जांच के दौरान डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *