नई राजनीति: कजरी महोत्सव में आए Aditya Thackeray

मुंबई। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर 40 लाख उत्तर भारतीयों को जोड़ने में जुटी शिवसेना की युवा सेना के प्रमुख Aditya Thackeray ने नई राजनीत‍ि की नींव रख दी है। अपने चाचा राज ठाकरे की राजनीत‍ि से इतर युवा वोटर्स के बीच आदित्य ठाकरे नए इनीश‍िएट‍िव के ल‍िए जाने जाने लगे हैं परंतु अब 40 लाख उत्तर भारतीयों से जुड़ने और उन्हें अपने साथ लाने के ल‍िए कजरी महोत्सव अच्छा बहाना बन गया। शिवसेना नेता आनंद दुबे ने भी कहा है क‍ि उत्तर भारतीय समाज बड़ी संख्या में पार्टी से जुड़ रहे हैं।

महाराष्ट्र में आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए शिवसेना मुंबई और इसके आसपास रहने वाले करीब 40 लाख उत्तर भारतीयों को जोड़ने में जुट गई है। सोमवार को शिवसेना की युवा सेना के प्रमुख आदित्य ठाकरे उत्तर भारतीयों के कजरी महोत्सव में शामिल हुए। इस दौरान लाल रंग का गमछा पहनाकर उनका स्वागत किया गया। गमछे को उत्तर भारतीय समाज का प्रतीक माना जाता है। दिंडोशी में हुए कार्यक्रम का आयोजन उत्तर भारतीयों के नेता माने जाने वाले आनंद दुबे और अशोक तिवारी ने किया।

मुंबई में चल रहा है कजरी महोत्सव

कार्यक्रम के दौरान उत्तर भारतीय समाज को संबोधित करते हुए आदित्य ठाकरे ने कहा कि यहां मुंबई में कजरी महोत्सव चल रहा है और देश में केसरी महोत्सव शुरू है। इससे भगवा रंग का संदेश पूरे देश में पहुंच रहा है।

आदित्य ने यह भी कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश के दौरे के दौरान बहुत सम्मान और प्रेम मिला। अयोध्या दौरे से मुझे एक ही सीख मिली कि- रघुकुल रीत सदा चली आई, प्राण जाई पर वचन न जाई। शिवसेना की भी यही रीत है कि जब तक अयोध्या में रामलला का मंदिर नहीं बनता, तब तक पार्टी शांत नहीं बैठेगी।’’

उत्तर भारतीय समाज से संवाद करेंगे आदित्य- शिवसेना नेता

आदित्य के मुताबिक, शिवसेना ने राम मंदिर से लेकर देश के किसानों तक के जितने भी कार्यों को पूरा करने का वचन दिया है। उसे हर हाल में पूरा किया जाएगा। आनंद दुबे ने कहा कि उत्तर भारतीय समाज बड़ी संख्या में उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे के कार्यों को देखकर शिवसेना के साथ जुड़ रहा है। जल्द ही आदित्य ठाकरे उत्तर भारतीय समाज से उनकी समस्याओं को जानने और सुलझाने के लिए संवाद भी कर सकते हैं।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *