केजरीवाल सरकार की नई आबकारी नीति, शराब पीने की उम्र घटाई

नई दिल्‍ली। दिल्ली सरकार ने नई आबकारी नीति को मंजूरी दे दी है। केजरीवाल कैबिनेट ने सोमवार को नई आबकारी नीति पर मुहर लगा दी है। यह नीति अगले तीन महीने में लागू कर दी जाएगी। इस नीति से सरकार का राजस्व बढ़ेगा। नई आबकारी नीति के तहत दिल्ली में शराब की नई दुकानें नही खुलेंगी। सभी सरकारी दुकानें बंद होंगी। दिल्ली में शराब की अब सभी दुकानें प्राइवेट होंगी। यह जानकारी उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने प्रेस कांफ्रेंस कर दी है।
मनीष सिसोदिया ने बताया कि सरकार ने कानूनी तौर पर दिल्ली में शराब पीने की न्यूनतम उम्र 25 साल से घटाकर 21 वर्ष कर दी है। दिल्ली में अब कम से कम 21 साल तक आयु के लोग शराब पी सकेंगे। बता दें कि उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में पहले से ही शराब पीने की न्यूनतम कानूनी उम्र 21 साल है। कम उम्र के बच्चों की आइडी जांच के बाद ही शराब मिलेगी।
शराब की गुणवत्ता के लिए एक जांच समिति बनेगी। नई नीति से 1500 से 2000 करोड़ की अतिरिक्त आय सरकार को होगी। अभी दिल्ली में 272 में से 80 वार्ड में शराब की दुकानें नही हैं। इसे ठीक किया जाएगा। शराब की दुकानें अब 500 वर्ग फीट की होंगी।
दिल्ली में शराब माफियाओं पर कसेगा शिकंजा
दिल्ली के इक्साइज पॉलिसी में केजरीवाल सरकार ने कई बदलाव किए हैं। डिप्टी सीएम ने बताया कि दिल्ली में अब शराब के दुकानों के बाहर बवाल नहीं होगा। नकली शराब को खत्म करने के लिए दिल्ली में चेकिंग लैब बनाया जाएगा। फिलहाल दिल्ली में 60 फीसदी शराब की दुकानें सरकार द्वारा चलाई जाती हैं। सिसोदिया ने कहा कि सरकार शराब की दुकानों का समान वितरण सुनिश्चित करेगी ताकि शराब माफियाओं को व्यापार से बाहर निकाला जाए। आबकारी विभाग में सुधारों के बाद 20 प्रतिशत की राजस्व वृद्धि का अनुमान है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *