हसीन जहां के मोहम्मद शमी पर नए आरोप, खुद लडेंगी अपना केस

नई दिल्‍ली। भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी पिछले एक साल से अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ दौर से गुजर रहे हैं। क्रिकेट के मैदान में वो लगातार एक के बाद एक झंडे गाड़ रहे हैं। हालांकि पिछले लगभग डेढ़ साल से पत्नी हसीन जहां के साथ चल रहा उनका विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।

हसीन जहां एक बार फिर से चर्चा में हैं और उन्होंने अब फिर से शमी के साथ-साथ पुलिस पर भी कई गंभीर आरोप लगाए हैं। पत्नी हसीन जहां द्वारा मारपीट, रेप, हत्या की कोशिश और घरेलू हिंसा जैसे लगाए गए गंभीर आरोपों का मामला फिलहाल कोर्ट में है और वहीं सुनवाई चल रही है।

ऐसे में अब न्यूजीलैंड दौरे पर गए शमी पर हसीन जहां ने फिर से नया आरोप लगाया है, हसीन ने कहा है कि शमी के दबाव में कोई भी वकील उनका केस लड़ने को तैयार नहीं है और वे अब खुद ही अपने केस की पैरवी करेंगी। हसीन ने शमी के साथ-साथ पुलिस पर भी कई आरोप लगाए हैं। हसीन ने कहा है कि पुलिस उनके और उनकी बेटी के साथ अभद्रता कर रही है।

हसीन ने पुलिस पर अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। हसीन ने आरोप लगाया है कि उनका केस कोई भी वकील लेने को तैयार नहीं हो रहा है।

उन्होंने याचिका में पुलिस के ऊपर उनके साथ घर में जबरदस्ती घुसकर बदतमीजी और गाली गलौच करने का आरोप लगाया था गलौच करने लगी। बता दें कि हसीन ने दो साल पहले मोहम्मद शमी और उनके परिवार वालों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न और अभद्रता का आरोप लगाया था। इस मामले में कोलकाता में मुकदमा भी दर्ज कराया गया था और शमी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट भी जारी हुआ था।

इससे पहले हसीन ने पति शमी पर कई संगीन आरोप लगाते हुए कहा था कि शमी उन्हें घर खर्च का पैसा नहीं देते और उनका किसी और महिला से रोमांस चल रहा है। इस वजह से शमी उनसे तलाक लेना चाहते हैं। शमी ने भी उनके आरोपों से इन्कार करते हुए उसे गलत बताया और कहा कि दरअसल हसीन ने उन्हें धोखा दिया है।

गौरतलब है कि मॉडल रहीं हसीन जहां और शमी की शादी साल 2014 में हुई थी। फिर वो कोलकाता नाइट राइडर्स की एक चीयर लीडर बनीं। इस दौरान दोनों की मुलाकात हुई और दोनों एक दूसरे को दिल दे बैठे। फिर शमी ने परिवार की मर्जी के खिलाफ जाकर शादी की।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *