न तो CBI जांच हुई और न सवालों के जवाब मिले: सुशांत की मौत पर रूपा गांगुली

मुंबई। रूपा गांगुली दुखी हैं कि सुशांत की मौत को एक महीना हो चुका है और न तो CBI जांच हुई और न ही उन सवालों के जवाब मिले, जिनसे एक्टर की मौत को लेकर काफी कुछ पता चल सकता है।
सुशांत सिंह राजपूत को गए एक महीना हो गया है लेकिन उनकी मौत की गुत्थी ज्यों की त्यों है। सुशांत ने एक महीने पहले 14 जून को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। लेकिन किसी को भी यकीन नहीं कि सुशांत जैसा स्टार आत्महत्या का कदम उठा सकता है। एक महीने से लोग सोशल मीडिया पर सुशांत के मामले में CBI जांच की मांग कर रहे हैं। रूपा गांगुली से लेकर शेखर सुमन, रतन राजपूत, युविका चौधरी और तरुण खन्ना के अलावा कई सिलेब्रिटीज एक्टर की मौत की जांच चाहते हैं।
सुशांत की मौत के बाद से तो पूर्व एक्ट्रेस और बीजेपी सांसद रूपा गांगुली की नींद ही उड़ गई है। वह तकरीबन एक महीने से सोशल मीडिया पर सुशांत मामले में CBI जांच के लिए मुहिम चला रही हैं। रूपा गांगुली का कहना है कि सुशांत की मौत आत्महत्या नहीं है और कई सवाल इसकी ओर इशारा करते हैं।
रूपा गांगुली ने कुछ दिन पहले कई ऐसे सवाल सोशल मीडिया पर शेयर किए थे जो उनकी नींद और सुख-चैन खोए हुए हैं और अब एक बार फिर वह नए सवालों के साथ हाजिर हैं, जिनका जवाब उन्हें या अन्य लोगों को सुशांत की मौत के एक महीने बाद भी नहीं मिला है।
रूपा गांगुली ने ट्वीट में पूछा, ‘सभी डॉक्टर्स प्लीज हमें यह समझने में मदद करें कि क्या ये पूछे जा रहे सवाल उचित नहीं हैं?
सुशांत की मौत की वजह फांसी के कारण दम घुटने से हुई है, लेकिन क्या यही चीज गला घोंटने के कारण नहीं हो सकती?’
दूसरा सवाल रूपा गांगुली ने पूछा, ‘इंटरनेट पर सुशांत की मौत की जो तस्वीरें वायरल हुई थीं, उनमें गले पर बना निशान राउंड था जबकि ऐसे ही सोसाइड के मामलों में गले पर अलग तरह का निशान होता है। है ना?’
तीसरा सवाल- सोसाइड के बाद चेहरे के फीचर्स और हाव-भाव में जो बदलाव दिखना चाहिए, वह हमें सुशांत के केस में नहीं दिखा। मसलन चेहरे का एकदम नीला या काला पड़ जाना, मुंह से झाग निकलना..क्या हमें चिंतित नहीं होना चाहिए?’
चौथा सवाल- डॉक्टर्स, मेडिकल एक्सपर्ट्स और फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स प्लीज हमें यह समझाने में मदद करें कि क्या ये सवाल अनुचित हैं?
सोसाइड के बाद न तो बॉडी से किसी तरह का डिस्चार्ज हुआ जोकि आमतौर पर इस तरह के केस में होता है और न ही चेहरा बिगड़ा। क्या यह कुछ गड़बड़ नहीं लगता?’
पांचवा सवाल- विसरा रिपोर्ट में पता चला कि शरीर में कोई केमिकल मौजूद नहीं था और अनार के जूस का गिलास भी गायब है। क्या हम यह नहीं कह सकते कि पक्का ही गिलास में कोई जहरीली चीज होगी?’
छठा सवाल- डॉक्टर्स और फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स प्लीज हेल्प करें। क्या ऐसा भी तो हो सकता है कि कोई बेहोशी की दवा या फिर टॉक्सिन देकर सुशांत को बेहोश किया गया हो और बाद में इस काम को अंजाम दिया गया हो?’
सातवां सवाल- क्या Cadaveric spasm का मतलब हिंसात्मक मौत भी हो सकता है?’
आठवां सवाल- बांए हाथ पर Cadaveric spasm मिलने का मतलब है कि सुशांत का बांया हाथ एकदम फ्री था और जिंदगी के लिए जद्दोजहद कर रहा था? उन्होंने एक हाथ से फांसी कैसे लगाई? इस काम को कैसे अंजाम दिया?
नौवां सवाल- मौत की वजह फांसी के कारण दम घुटने (Asphyxia) से होना बताया गया लेकिन क्या इसका मतलब सोसाइड से मौत होना है?
दसवां सवाल- आखिर मौत का वक्त क्या था? क्या उस पर अभी तक कुछ स्पष्ट हुआ? उस जानकारी से हमें काफी कुछ पता चल सकता है। बॉडी उस वक्त कितनी ठंडी या गर्म थी, इसके आधार पर पता चल सकता है कि मौत का वक्त क्या था।
ग्यारहवां सवाल- क्या सुशांत का घर सील कर दिया गया है? सीन को प्रिजर्व करके रखा गया है या नहीं, इस बारे में कोई खबर क्यों नहीं है?
बारहवां सवाल- एक पॉजिटिव, विनम्र और शानदार दिमाग वाला इंसान वैसा कैसे कर सकता है, जैसा आज हमें दिखाया या बताया जा रहा है?
तेरहवां सवाल- डिप्रेशन से सोसाइड? यह सच नहीं है। बल्कि पहले से ही तय किए गए निष्कर्ष लगते हैं।
14वां सवाल- मौत का कारण जरूरी नहीं सेल्फ-इन्फ्लेक्टेड हो। डॉक्टर्स और मेडिकल एक्सपर्ट्स क्या आप इससे सहमत नहीं?
आखिर में रूपा गांगुली ने ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा- ऐसे होनहार बच्चे को आप लोगों ने चले जाने दिया? ये जमीन, ये आसमान, ये सितारे…आप लोगों को माफ नहीं करेंगे।
सुशांत के मामले में जहां मुंबई पुलिस अभी तक करीब 36 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है तो वहीं बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने इस मामले की जांच के लिए एक वकील नियुक्त किया है, जिससे ऐक्टर की मौत की CBI जांच की सुगबुगाहट और तेज हो गई है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *